रेडिमेड गारमेंट्स प्रदर्शनी में पहुंचे CM योगी, कहा- महिलाएं कमाने लगें, तो घर में नहीं होती कोई कमी

गोरखपुर में सीएम योगी ने कहा कि यूपी संभावनाओं का प्रदेश है. फरवरी 2018 में ओडीओपी को शुरू किया था. आज आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को ओडीओपी निर्वहन कर रही है

गोरखपुर में सीएम योगी ने कहा कि यूपी संभावनाओं का प्रदेश है. फरवरी 2018 में ओडीओपी को शुरू किया था. आज आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को ओडीओपी निर्वहन कर रही है

रेडिमेड गारमेंट्स की प्रदर्शनी का निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा जिस परिवार में महिला कमाने लगेगी उस परिवार में किसी प्रकार की कमी नही रहेगी. गोरखपुर (Gorakhpur) की 55 लाख की आबादी में से 25 लाख महिलाएं है जिनको इस योजना से जोड़कर काफी बड़े पैमाने पर गोरखपुर रेडीमेड गारमेंट्स के हब के रूप में विकसित कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2021, 5:22 PM IST
  • Share this:
गोरखपुर. अपने गृह जनपद गोरखपुर (Gorakhpur) के दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शनिवार को कचहरी क्लब में ओडीओपी पार्ट टू में शामिल रेडिमेड गारमेंट (Readymade Garment) की प्रदर्शनी का निरीक्षण किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें इस काम में क्वालिटी का भी ध्यान रखना होगा. उद्यम क्षेत्र में पहले से लगे 10 हजार से अधिक प्रवासी लोगों को गोरखपुर में काम मिले इसको लेकर ओडीओपी (ODOP) में वस्त्र उद्योग को चुना गया. उन्होंने कहा कि ओडीओपी के साथ जुड़कर गोरखपुर में टेराकोटा के साथ रेडीमेड कपड़ों को जोड़ा है. प्रदर्शनी में जिस भी स्टाल पर गए, वहां से पॉजिटिव ऊर्जा मिली है. चार साल में हमने महसूस किया कि हमारे उद्यमियों की समस्या क्या है. सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि उत्तर प्रदेश संभावनाओं का प्रदेश है. फरवरी 2018 में ओडीओपी को शुरू किया था. आज आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को ओडीओपी निर्वहन कर रही है.

उन्होंने यह भी कहा कि बैंकों से जुड़ी समस्या का समाधान हर दूसरे तीसरे महीने होनी चाहिए ताकि इस उद्योग से जुड़े लोगों की समस्या समय पर खत्म हो. रेडीमेड गारमेंट्स में 15हजार लोग सीधे गोरखपुर से जुड़े हैं. 350 करोड़ का निवेश इसमें किया गया है. जिस परिवार में महिला कमाने लगेगी उस परिवार में किसी प्रकार की कमी नही रहेगी. गोरखपुर की 55 लाख की आबादी में से 25 लाख महिलाएं है जिनको इस योजना से जोड़कर काफी बड़े पैमाने पर गोरखपुर रेडीमेड गारमेंट्स के हब के रूप में विकसित कर सकते हैं.

सीएम योगी ने कहा कि गोरखपुर में 500 करोड़ मूल्य का कपड़ा बनता है पर 2000 करोड़ का कपड़ा अभी भी बाहर से आता है. इस 2000 करोड़ के कपड़े के मार्केट को हम यहां बना सकते हैं. अभी 15 हजार लोग प्रत्यक्ष रूप से इस व्यवसाय से जुड़े हैं पर इसे हमें 50 हजार लोगों तक ले जाना है जो 15 से 25 हजार रूपये महीने की आमदनी कर सकें. वहीं उद्यमियों ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर यह प्रदर्शनी लगाई गई है, उनके लिए उनके लिए काफी लाभदायक साबित हुई. अब लोग जानने लगे हैं कि गोरखपुर में भी बढ़िया सामान बन रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज