गोरखपुर: समीक्षा बैठक के दौरान CM योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों की जमकर लगाई क्लास
Gorakhpur News in Hindi

गोरखपुर: समीक्षा बैठक के दौरान CM योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों की जमकर लगाई क्लास
सीएम योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ प्रभवित क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किया

मुख्यमंत्री (CM Yogi Adityanath) ने जिले में निर्माणाधीन सड़कों को लेकर अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई. गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग को लेकर सीएम ने साफ कहा कि इस रोड की कम से कम दो लेन की चलने लायक सड़क जल्द से जल्द बना दी जाए.

  • Share this:
गोरखपुर. एनेक्सी भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने मंगलवार को समीक्षा बैठक (Review Meeting) के दौरान अधिकारियों की जमकर क्लास ली. कोविड-19 (COVID-19) संक्रमण से बचाव के लिए किये जा रहे उपायों पर अधिकारियों से चर्चा तो की ही साथ ही जिले में कोविड 19 से संक्रमित लोगों के लिए L2 और L3 लेवल के अस्पताल बनाने के निर्देश दिये. सीएम ने कहा कि कम से कम एक हजार बेड की संख्या और  बढ़ाये जाएं. मेडिकल कॉलेज में निर्माणाधीन सुपर स्पेशलिस्ट अस्पताल की भी समीक्षा की. ये अस्पताल 31 अगस्त तक हस्तांतरित होना है जिसके बाद इसमें कोविड-19 का अत्याधुनिक अस्पताल बनाने की तैयारी चल रही है.

निर्माणाधीन सड़कों को लेकर दिया निर्देश

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी मरीज को बेड की कमी के कारण वापस न लौटाया जाए. जहां पर बरसात के कारण पानी लग गया है, वहां पर विशेष सतर्कता बरतते हुए क्लोरीन की टेबलेट बांटने के निर्देश दिये. उसके बाद मुख्यमंत्री ने जिले में निर्माणाधीन सड़कों को लेकर अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई. गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग को लेकर सीएम ने साफ कहा कि इस रोड की कम से कम दो लेन की चलने लायक सड़क जल्द से जल्द बना दी जाए. मार्च 21 तक गोरखपुर से वाराणसी के बीच दो लेन की सड़क का निर्माण पूरा कराने को कहा. इसके बाद सीएम ने मोहद्दीपुर से जंगल कौड़िया तक बन रहे फोर लेन सड़क की प्रगति पर नाखुशी जाहिर करते हुए कहा कि तीन शिफ्टों में काम करवाकर इसे जल्द से जल्द पूरा किया जाए. बारिश का बहाना न बनाया जाए, जो काम बारिश में हो सकते हैं उसे पूरा किया जाए. गोरखपुर से देवरिया और मोहद्दीपुर से असुरन के बीच बन रही सड़क को इस साल के अंत तक हर हाल में पूरा करने के निर्देश सीएम योगी ने दिये.



बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण
इसके पहले मुख्यमंत्री ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया. तरकुलानी से लेकर लहसड़ी तक बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को देखा. हेलीपैड पर गोरखपुर ग्रामीण विधायक से क्षेत्र की स्थिती के बारे में जानकारी ली. साथ ही पूछा कि क्या प्रशासन लोगों को राहत समाग्री उपलब्ध करा रहा या नहीं. विधायक और क्षेत्रीय अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह से फीड बैक लेने के बाद सीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक की. वहीं सर्किट हाउस आने से पहले सहजनवां विधानसभा के पाली ब्लॉक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात कर उनके दर्द पर मरहम लगाने की कोशिश की. सीएम ने यहां पर बाढ़ राहत समाग्री का भी वितरण किया. इस मौके पर सीएम ने कहा कि मौजूदा समय में दो बड़े संकट हैं. एक तरफ जहां कोविड-19 का संक्रमण है तो वहीं दूसरी तरफ बाढ़. हिम्मत से इन दोनों से लड़कर जीतना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज