होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /गोरखपुर: किसान मेले में गरजे CM योगी, बोले- कुछ स्वार्थी लोग भड़का रहे किसानों को

गोरखपुर: किसान मेले में गरजे CM योगी, बोले- कुछ स्वार्थी लोग भड़का रहे किसानों को

गोरखपुर के किसान मेले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ.

गोरखपुर के किसान मेले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिन लोगों ने अपने शासनकाल में किसानों के हित के लिए कुछ नहीं किया, वे लोग आज सवाल ...अधिक पढ़ें

गोरखपुर. गोरखपुर (Gorakhpur) के चरगवां ब्लॉक में आयोजित किसान मेले (Kisan Mela) में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला. सीएम ने कहा कि कुछ स्वार्थी लोग किसानों (farmers) को भड़का रहे हैं, जिसके कारण किसान परेशान हो रहे हैं. जिन लोगों ने अपने शासनकाल में किसानों के हित के लिए कुछ नहीं किया, वे लोग आज सवाल उठा रहे हैं. साथ ही सीएम ने कहा कि स्वास्थ्य हेल्थ कार्ड, फसल बीमा योजना, एमएसपी, पीएम सम्मान निधि, किसानों की ऋण माफी योजना, कृषि सिंचाई, फसल बीमा योजना, कृषक दुर्घटना बीमा जैसे अनेक कार्यक्रम चलाकर किसानों के जीवन को बदला जा रहा है.

कांट्रैक्ट फार्मिंग एक विकल्प है, अनिवार्यता नहीं

यहां पर 20 करोड़ की लागत से छात्रावास का शिलान्यास किया गया है. आज किसान नई तकनीकी से खेती कर रहे हैं. कृषक उत्पादक संगठन बनाकर अगर खेती हो तो किसानों को काफी मुनाफा होगा. सरकार आज किसानों के हितों के लिए काम कर रही है, तो कुछ तत्त्व किसानों को गुमराह कर रहे हैं. पर उनके समय में कोई भी किसानों के हित की योजना नहीं आई थी. चंद लोगों के इशारे पर आज वह दुष्प्रचार कर रहे हैं. कैसे कोई किसान की जमीन को हड़प लेगा. कांट्रैक्ट फार्मिंग एक विकल्प है, अनिवार्यता नहीं.

सरकार कर रही किसानों के हित में काम

ये लोग किसान को मुनाफा नहीं कमाने देना चाहते. ये लोग झूठ बोलते हैं कि मंडियां बंद हो जाएंगी. हमारे केंद्र सरकार के बजट में 1000 मंडियों के नवीकरण की योजना है. हमने 56 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद पिछले साल की थी. किसान अपनी जमीन का मालिक है और सरकार उसको एक सुविधा दे रही है. पहले यहां 42 चीनी मिल चलती थी, पर आज 10 से 12 मिल किसी तरह चल पा रही है. हमारी सरकार ने पिपराइच में नई चीनी मिल लगवाई. 4 साल में 1 लाख 27 हजार करोड़ रुपये का हमने गन्ना मूल्य भुगतान किया है. 2 करोड़ 42 लाख किसानों के खाते में केंद्र और प्रदेश सरकार ने मिलकर सम्मान निधि दिया है. 2017 से पहले किसान आत्महत्या करता था और उसे शासन की किसी योजना का लाभ नहीं मिल पाता था. 20 लाख हेक्टेयर से अधिक की भूमि को हम सिंचाई की सुविधा देने जा रहे हैं. आप सबसे अनुरोध है कि हम किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन करने का काम करें. अगर कोई किसान बन्धु आयुष्मान भारत से आच्छादित नहीं हुआ है तो उसे 5 लाख रुपये की प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री आरोग्य योजना का लाभ मिलेगा. इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एफपीओ शक्ति पोर्टल को भी लांच किया और कृषि विकास पुस्तिका का विमोचन किया.

आपके शहर से (गोरखपुर)

गोरखपुर
गोरखपुर

Tags: CM Yogi Adityanath, Contract Farming, Farmers, Gorakhpur news, Pm narendra modi

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें