गोरखपुर के पर्वतारोही नीतीश ने माउंट किलिमंजारो को किया फतह, किन्नर समुदाय का जताया आभार

गोरखपुर में युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह का जोरदार स्वागत.

Gorakhpur News: नीतीश सिंह ने कहा कि मैं अपनी कामयाबी का श्रेय महामंडलेश्वर किरननंद गिरी को देना चाहूंगा. उन्होंने मेरी इस यात्रा में बहुत ही मदद किया है. यह पर्वत मैंने किन्नर समुदाय के लिए क्लाइंब किया है.

  • Share this:
गोरखपुर. उत्तर प्रदेश में गोरखपुर (Gorakhpur) के युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह (Mountaineer Nitish Singh) अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो (Mount Kilimanjaro) को फतह करने के बाद वापस अपने शहर पहुंच गए हैं. यहां उनका जोरदार स्वागत किया गया. नीतीश ने बताया कि आज मुझे बहुत ही अच्छा महसूस हो रहा है. मैंने 26 जनवरी की सुबह अफ्रीका की सबसे ऊंची पहाड़ी पर देश का तिरंगा फहराया. मुझे गर्व की अनुभूति हो रही है. नीतीश सिंह ने कहा कि मैं अपनी कामयाबी का श्रेय महामंडलेश्वर किरननंद गिरी को देना चाहूंगा. उन्होंने मेरी इस यात्रा में बहुत ही मदद किया है. यह पर्वत मैंने किन्नर समुदाय के लिए क्लाइंब किया है.

नीतीश सिंह ने कहा कि चाइल्ड सेक्सुअल एब्यूज और चाइल्ड लेबर के खिलाफ मैंने वहां से संदेश दिया है. नीतीश ने कहा कि अब अगला लक्ष्य मेरा विश्व की सातों सबसे ऊंची पहाड़ियों को फतह करने का है. जिसे मैं अगले दो वर्षो में पूरा करूंगा. आज मैंने इसे फतह किया है. अब ऑस्ट्रेलिया की सबसे ऊंची पहाड़ी माउंट कोज़िअस्को है उसे फतेह करना है. नीतीश ने कहा कि इसमें आप सभी का सहयोग, आप सभी का प्रेम और गवर्नमेंट का सपोर्ट मिलेगा तो इसे मैं जरूर फतह करूंगा.

नीतीश का अब तक का सफर

नीतीश ने युवाओं को कहा कि जिंदगी में कुछ न कुछ एक्स्ट्रा करना चाहिए. अगर जिंदगी में किसी चीज का लक्ष्य आपने बनाया है तो उसे आप जरूर पूरा कर सकते हैं. खुद पर भरोसा रखना हर एक चीज मुमकिन है, बस थोड़ा वक्त लगता है. इसके पहले नीतीश सिंह 2018 में ही लेह-लद्दाख स्थित कांगड़ी 6124 मीटर, 2019 में अरुणाचल प्रदेश में मीराथांग ग्लेशियर 16600 फीट, 2020  में पीननट चोटी 9000 फीट की चोटी पर फतह किया.