होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /NGO की आड़ में कर रहे थे बच्चों की सौदेबाजी, पुलिस ने सरगना समेत 7 आरोपियों को दबोचा

NGO की आड़ में कर रहे थे बच्चों की सौदेबाजी, पुलिस ने सरगना समेत 7 आरोपियों को दबोचा

NGO की आड़ में बच्चों की सौदेबाजी कर रहे गिरोह के सदस्यों को गोरखपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार.

NGO की आड़ में बच्चों की सौदेबाजी कर रहे गिरोह के सदस्यों को गोरखपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार.

Child Thief Gang Busted in Gorakhpur: एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई ने मीडिया से बातचीत में बताया कि दरअसल तिवारीपुर के ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

पुलिस ने बच्चा चोर गैंग के 7 लोगों को किया गिरफ्तार
NGO की आड़ में करते थे बच्चों की सौदेबाजी
एसपी ने पुलिस टीम को 20 हजार इनाम की घोषणा की

गोरखपुर. उत्तर प्रदेश की गोरखपुर पुलिस ने बच्चा चोर गिरोह को पकड़ने में सफलता प्राप्त की है. जिले की तिवारीपुर पुलिस ने शातिर बच्चा चोर गैंग का खुलासा करते हुए सरगना समेत सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों में दो महिला भी शामिल हैं. गैंग द्वारा अगवा किए गए बच्चे को भी पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया. पुलिस ने बदमाशों के पास से 45 हजार नगदी और स्कॉर्पियो गाड़ी की भी बरामदगी की है.

हैरान करने वाले बात ये है कि आरोपी अनाथ बच्चों के एनजीओ की आड़ में बच्चों का सौदा करते थे. खासतौर पर खराब आर्थिक स्थिति वाले परिवार के लाचार लोगों को पैसों का लालच देकर उनके बच्चे को अगवा कर लिया करते थे. तिवारीपुर पुलिस ने एसओजी की मदद से बच्चा चोरों के शातिर गैंग का खुलासा किया है. एसपी ने गिरोह का खुलासा करने वाली टीम को 20 हजार रुपए देने की घोषणा की है.

अन्य 6 की तलाश जारी
प्रेसवार्ता के दौरान एसपी सिटी कृष्ण कुमार विश्नोई ने मीडिया से बातचीत में बताया कि तिवारीपुर के डोमिनगढ़ से पकड़ा गया मऊ निवासी शेखर अनाथ आश्रम की आड़ में बच्चों के बेचने का एक संगठित गैंग चला रहा था. गोरखपुर में एक बच्चे की मां को प्रलोभन देकर शेखर ने गिरोह के साथियों के साथ साजिश रची थी. जिसके बाद पुलिस ने दस महीने के बच्चे अंश को बरामद करते हुए, गिरोह में शामिल सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया. वहीं पुलिस, घटना में वांछित छह नामजद लोगों की तलाश में जुटी है.

आपके शहर से (गोरखपुर)

गोरखपुर
गोरखपुर

एसपी ने की 20 हजार इनाम की घोषणा
एसपी ने बताया कि कैंपियरगंज की गुड़िया पति से अलग अपने दस महीने के बच्चे अंश को लेकर गोरखनाथ के राजेंद्र नगर में किराये के कमरे में रहती है. आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण बच्चा चोर गैंग द्वारा गुड़िया के बच्चे को अनाथ आश्रम में देने का झांसा देकर बच्चे को अगवा करने की साज़िश रची गई. हालांकि पुलिस की मुस्तैदी से घटना का पर्दाफाश हो गया. गिरोह का पर्दाफाश करने पर तिवारीपुर एसओ मदन मोहन मिश्रा और एसओजी प्रभारी मनीष यादव की टीम को एसएसपी ने 20 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है.

Tags: Child thief gang, Gorakhpur news, Uttarpradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें