Home /News /uttar-pradesh /

Gorakhpur में कोरिया से 7 लाख की सुपारी देकर कराया कत्ल, चाची के चरित्र पर करता था शक

Gorakhpur में कोरिया से 7 लाख की सुपारी देकर कराया कत्ल, चाची के चरित्र पर करता था शक

पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है.

Pushpa Yadav Murder Case of Gorakhpur: पुष्पा यादव मूलरूप से देवरिया के मदनपुर थाने के फकईपुर की रहने वाली थीं. उनका भतीजा गोपाल यादव कोरिया में रहता है. पुलिस के मुताबिक, 2017 में पुष्पा के पति दयानंद यादव की मौत हो गई. इसके बाद पुष्पा कुछ लोगों से मिलती-जुलती थीं. इसका घर वालों ने विरोध किया तो वह बड़हलगंज में रहने लगी थीं लेकिन यह बात घरवालों को पसंद नहीं थी. गोपाल इसे लेकर काफी परेशान रहता था और फिर उसने हत्या की साजिश रची.

अधिक पढ़ें ...

गोरखपुर. गोरखपुर पुलिस (Gorakhpur Police) ने गुरुवार को महिला पुष्पा यादव हत्याकांड (Pushpa Yadav Murder Case) का सनसनीखेज खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक महिला की हत्या की साजिश कोरिया कमाने गये उसके भतीजे ने ही रची थी. पुलिस का दावा है कि महिला के चरित्र को लेकर समाज में बदनामी से नाराज भतीजे ने ही अपने दोस्तों के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची थी. पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए तीन हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है.

हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसएसपी डॉ विपिन ताडा ने बताया है कि बड़हलगंज के सिधुआपार निवासिनी पुष्पा यादव की हत्या उसके भतीजे गोपाल यादव ने कोरिया से करवाई थी. ताडा ने बताया कि घटना में शामिल तीन आरोपितों के गिरफ्तारी के बाद किया है. गिरफ्तार आरोपी बड़हलगंज के मरवटिया निवासी उमेश यादव घटना के समय सीसीटीवी फुटेज व फोटो में भी देखा गया था. बाकी दोनों आरोपी श्रीकांत यादव व विश्वनाथ यादव सगे भाई हैं. वह देवरिया के मदनपुर थाने के हरदेउरा के निवासी हैं. पुलिस ने आरोपियों के पास से घटना में इस्तेमाल दो बाइक और एक लाइसेंसी रिवाल्वर बरामद किया है.

अब तक 5 आरोपी गिरफ्तार
घटना को अंजाम देने वाले मऊ के मधुबन निवासी मिथिलेश उर्फ लालू और गोविंद यादव की बीते एक दिसंबर को बलिया के उभांव से गिरफ्तारी हो चुकी है. गौरतलब है कि बीते 22 नवंबर को मिथिलेश व गोविंद ने पुष्पा यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी. मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने उमेश यादव, श्रीकांत यादव व विश्वनाथ यादव को गिरफ्तार कर लिया.

इसी वजह से पुष्पा अलग रहती थी
बता दें कि पुष्पा यादव मूलरूप से देवरिया के मदनपुर थाने के फकईपुर की रहने वाली थीं. उनका भतीजा गोपाल यादव कोरिया में रहता है. पुलिस के मुताबिक, 2017 में पुष्पा के पति दयानंद यादव की मौत हो गई. इसके बाद पुष्पा कुछ लोगों से मिलती-जुलती थीं. इसका घर वालों ने विरोध किया तो वह बड़हलगंज में रहने लगी थीं लेकिन यह बात घरवालों को पसंद नहीं थी. गोपाल इसे लेकर काफी परेशान रहता था और फिर उसने हत्या की साजिश रची.

Tags: Brutal Murder, Gorakhpur news, Gorakhpur Police, Up crime news, UP news, UP police, Yogi government, गोरखपुर

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर