गोरखपुर: युवती ने प्रेमी संग मिलकर खुद रची मौत की झूठी थ्योरी

गोरखपुर: युवती ने प्रेमी संग मिलकर खुद रची मौत की झूठी थ्योरी

गोरखपुर: युवती ने प्रेमी संग मिलकर खुद रची मौत की झूठी थ्योरी

काजल का कहना है कि उसके पिता उसे प्रताड़ित किया करते थे. ऐसे में अपने प्रेमी के साथ रहने की खातिर उसने अपने अपहरण और हत्या की झूठी साजिश रची थी.

  • Share this:
गोरखपुर. गोरखपुर पुलिस ने सोमवार को युवती द्वारा खुद के ही अपहरण और हत्या की साजिश रचे जाने की वारदात का सनसनीखेज खुलासा किया है. दिलचस्प है कि सिंगिंग एप के जरिए आगरा के अपने प्रेमी के साथ रहने को लेकर युवती ने खुद की मौत का ड्रामा रचा था. वहीं पुलिस ने वारदात की गुत्थी को सुलझाते हुए प्रेमी और लापता युवती को बरामद कर लिया है.



मौत का झूठा ड्रामा



दरअसल पिता को धोखा देने को लेकर युवती ने खुद अपहरण और मौत की साजिश रची थी. आगरा के अपने प्रेमी के साथ शहर के कुसम्ही जंगल में जाकर युवती ने ग्लिसरीन लिक्विड की तीन लाल शीशियों को सिर पर गिराया था. ताकि सिर से निकलते खून को देखकर उसकी हत्या की घटना सच लगे. लेकिन अफसोस की बात यह है कि युवती काजल पाण्डेय को अपने किये पर किसी तरह का पछतावा नहीं है.





पुलिस ने किया प्रेमी और युवती को गिरफ्तार
पुलिस ने किया प्रेमी और युवती को गिरफ्तार

 पिता पर लगाया प्रताड़ित करने का आरोप



काजल का कहना है कि उसके पिता उसे प्रताड़ित किया करते थे. ऐसे में अपने प्रेमी के साथ रहने की खातिर उसने अपने अपहरण और हत्या की झूठी साजिश रची थी. वहीं आगरा में कोचिंग में बच्चों को पढ़ाने वाला काजल का प्रेमी हरिमोहन शर्मा भी पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद भी काजल के साथ रहने की बात कहता है.



संदिग्ध परिस्थितियों में हुई लापता



बता दें कि चौरीचौरा थाना के बालबुजुर्ग के अनिल पाण्डेय के बेटी काजल पाण्डेय बीते 10 तारीख को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गयी थी. हैरानी की बात यह है कि लापता होने के बाद काजल ने अपने पिता के मोबाइल पर अपने अपहरण और हत्या किये जाने की तस्वीरें वाट्सअप किया था. और इसके बाद काजल का मोबाइल बंद हो गया था. ऐसे में अपनी बेटी के साथ अनहोनी की आशंका को लेकर काजल के पिता ने फौरन इसकी सूचना पुलिस को दी थी.



साइबर सेल की मदद



युवती द्वारा सनसनीखेज फोटो को देख चौरीचौरा पुलिस की नींद उड़ गई थी. वहीं केस दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुट गयी थी. गौरतलब है कि काजल कस्बे के भोपा बाजाप स्थित एक मोबाइल कंपनी में कस्टमर केयर के तौर पर कार्यरत थी. ऐसे में शुरूआती जांच में पुलिस ने कंपनी के कर्मचारियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की लेकिन नतीजा सिफर निकला है. ऐसे में साइबर सेल की मदद से काजल के मोबाइल नंबर को खंगालने को दौर शुरू हुआ.



झूठी साजिश का पुलिस ने कैसे किया पर्दाफाश 



तफ्तीश में आगरा के खनदौल निवासी हरिमोहन शर्मा के मोबाइल नंबर का पता चला था. ऐसे में पुलिस की टीम ने आगरा पुलिस की मदद से इसकी पड़ताल की तो सनसनीखेज खुलासा हुआ है. सीओ चौरीचौरा सुमित शुक्ला ने विस्तार से युवती द्वारा खुद की हत्या और अपहरण की रची गयी झूठी साजिश के पर्दाफाश किया गया है. सीओ ने बताया कि दरअसल डेढ़ साल पहले सिंगिंग एप के जरिए काजल की पहचान आगरा निवासी हरिमोहन से हुई थी. जो धीरे-धीरे प्यार में तब्दील हो गई. वहीं सीओ का कहना हैं कि अपने खुद के अपहरण और हत्या की साजिश रचने के पीछे युवती काजल द्वारा अपने पिता से छुटकारा पाना था.



मोबाइल कंपनी में थी कार्यरत 



इतना ही नहीं काजल जिस मोबाइल कंपनी में कार्यरत थी उसे नौकरी से निकाल दिया गया था. ऐसे में काजल द्वारा अपने अपहरण और हत्या की झूठी साजिश के जरिए कंपनी के कर्मचारियों को फर्जी केस में फंसाने का भी जाल बुना गया था. वहीं काजल की नासमझी भरे कदम की वजह से आज वह ऐसा अपराध कर बैठी जिसने उसे जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया.



ये भी पढ़ें:



बलिया: देखिए कैसे चंद सेकेंडों में गंगा ने लील ली दो मंजिला मकान व पानी की टंकी



उपचुनाव से पहले तूफानी दौरे पर CM योगी, कानपुर और बाराबंकी के बाद जाएंगे मऊ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज