Home /News /uttar-pradesh /

गोरखपुर: झांसा देकर युवती से बनाया संबंध, शादी के लिए फरहान अहमद ने रखी धर्मांतरण की शर्त

गोरखपुर: झांसा देकर युवती से बनाया संबंध, शादी के लिए फरहान अहमद ने रखी धर्मांतरण की शर्त

तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर गोरखपुर की रामगढ़ताल पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर गोरखपुर की रामगढ़ताल पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

एक युवती का आरोप है कि गोरखपुर नगर निगम (Municipal Corporation) में तैनात कर निरीक्षक फरहान अहमद ने उससे झांसा देकर संबंध बना लिया और फिर उस पर धर्म बदलने का दबाव बना रहा है. इनकार करने पर जान से मारने की धमकी दे रहा है.

गोरखपुर. जिले से एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है. दरअसल नगर निगम के कर निरीक्षक पर रामगढ़ताल पुलिस ने दुष्कर्म और धर्मांतरण (Conversion) के लिए युवती पर दबाव बनाने का केस दर्ज किया है. युवती का आरोप है कि नगर निगम (Municipal Corporation) में तैनात कर निरीक्षक उस पर धर्म बदलने का दबाव बना रहा था. फिलहाल केस दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

गौरतलब है कि शहर के रामगढ़ताल थाना क्षेत्र की रहने वाली युवती ने पुलिस को दी तहरीर में लिखा है कि जनवरी 2021 में फेसबुक पर उसकी दोस्ती नगर निगम के कर निरीक्षक फरहान अहमद से हुई थी. जान पहचान बढ़ने पर उससे मुलाकात होने लगी. फरहान के दोस्त शुभम गुप्ता का तारामंडल के वसुंधरा में फ्लैट है.

युवती का आरोप है की घूमाने के बहाने फरहान उसे कई बार वहां ले गया. इस दौरान शादी करने का झांसा देकर कर निरीक्षक ने उसके साथ दुष्कर्म किया, जबकि शादी करने की बात कहने पर अब वह धर्म परिवर्तन (Conversion for Marriage) करने का दबाव बनाने लगा है. इनकार करने पर जान से मारने की धमकी दे रहा है.

तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर रामगढ़ताल पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. इस मामले पर एसपी सिटी सोनम कुमार का कहना है कि सोशल मीडिया के जरिए युवती की कर निरीक्षक से दोस्ती हुई थी. हालांकि युवती का आरोप है कि शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया है. वहीं शादी करने की बात कहने पर जबरन धर्मांतरण के लिए दबाव बनाया जा रहा है. फिलहाल इस मामले में केस दर्ज करके जांच कराई जा रही है. जो भी सही तथ्य सामने आएंगे उसके हिसाब से कार्रवाई की जाएगी. कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज किया जाएगा.

Tags: Conversion, Conversion case in UP, Forced Conversion

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर