गोरखपुरः एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा क्लर्क, 5 हजार रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा गया

एंटी करप्शन टीम के प्रभारी इंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद पाण्डेय ने बताया कि रिश्वत मांगने की शिकायत के बाद टीम ने कार्रवाई करते हुए आरोपी क्लर्क को रिश्वत के रुपयों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि कैंट थाने में आरोपी क्लर्क ने खुद को बेकसूर बताया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2018, 11:34 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2018, 11:34 PM IST
गोरखपुर जिले में सोमवार को एंटी करप्शन टीम ने 5 हजार रुपए रिश्वत लेते एक क्लर्क को रंगेहाथ गिरफ्तार किया है. एंटी करप्शन टीम की गिरफ्त में आया क्लर्क की पहचान यशवंत सिंह के रूप में हुई है, जो बांसगांव के श्रम विभाग में जूनियर क्लर्क पद पर तैनात है. एंटी करप्शन टीम ने कैंट थाना के आरटीओ तिराहे के पास से आरोपी क्लर्क को गिरफ्तार किया है, जिसे टीम ने रिश्वत के रुपयों के साथ पुलिस के हवाले कर दिया है.

यह भी पढ़ें-बीजेपी महिला नेता पर 50 हजार रिश्वत का आरोप, सीएम के निर्देश पर गिरफ्तार

रिपोर्ट के मुताबिक बांसगांव थाना क्षेत्र के माल्हनपार इलाके में मिठाई की दुकान चलाने वाले तेज बहादुर नामक दुकानदार ने एंटी करप्शन विभाग में जूनियर क्लर्क के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. पीड़ित के मुताबिक आरोपी क्लर्क उसे फर्जी बाल श्रम के मामले में फंसाने की धौंस देकर 5 हजार की रिश्वत मांग रहा था. एंटी करप्शन टीम ने आरोपी क्लर्क को आरटीओ स्थित पान की दुकान के पास से 5 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया.

यह भी पढ़ें-यूपी में रिश्वत लेकर कैसे लिखे जाते है फर्जी मुकदमें, VIDEO हुआ वायरल

एंटी करप्शन टीम के प्रभारी इंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद पाण्डेय ने बताया कि रिश्वत मांगने की शिकायत के बाद टीम ने कार्रवाई करते हुए आरोपी क्लर्क को रिश्वत के रुपयों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि कैंट थाने में आरोपी क्लर्क ने खुद को बेकसूर बताया है और पीड़ित पर जबरन पैसा देने की बात कही है.

(रिपोर्ट-अनिल सिंह, गोरखपुर)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर