अपना शहर चुनें

States

गोरखपुर: पीएम-सीएम पर विवादित पोस्ट करने वाला एलएलबी का छात्र गिरफ्तार, विश्वविद्यालय ने किया निलंबित

गोरखपुर यूनिवर्सिटी का छात्र गिरफ्तार
गोरखपुर यूनिवर्सिटी का छात्र गिरफ्तार

Gorakhpur News: आरोपी छात्र की गिरफ्तारी पर कैंट थाने के इंस्पेक्टर अनिल उपाध्याय ने बताया कि सोशल मीडिया में पीएम और सीएम के खिलाफ आपत्तिजनक वीडियो वायरल हुआ था. उसी मामले में केस दर्ज करके गिरफ्तारी की गई है.

  • Share this:
गोरखपुर. पुलिस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करने पर एलएलबी के छात्र को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी युवक को अनुशानहीनता का दोषी पाये जाने पर गोरखपुर विश्वविद्यालय (Gorakhpur University) प्रशासन ने उसे निलंबित भी कर दिया है. आरोपी एलएलबी छात्र को विश्वविद्यालय में प्रवेश करने से भी रोक दिया गया है.

दरअसल, गोरखपुर विश्वविद्यालय में एलएलबी प्रथम वर्ष के छात्र अरुण कुमार यादव पर सोशल मीडिया में आपत्तिजनक वीडियो पोस्ट करने का आरोप है. ऐसे में जहां एक तरफ आरोपी छात्र के खिलाफ केस दर्ज करने के साथ कैंट पुलिस ने चौरीचौरा थाना के पंडितपुरा इलाके से आरोपी छात्र को गिरफ्तार किया, तो वहीं गोरखपुर विश्वविद्यालय प्रशासन ने आरोपी छात्र को निलंबित कर दिया. इसके साथ ही विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्र के परिसर एवं छात्रावास में प्रवेश पर रोक लगा दी है. गौरतलब है कि छात्र पर यह कार्रवाई अनुशासनात्मक कमेटी की रिपोर्ट पर की गयी है.

आरोपी छात्र की गिरफ्तारी पर कैंट थाने के इंस्पेक्टर अनिल उपाध्याय ने बताया कि सोशल मीडिया पर पीएम और सीएम के खिलाफ आपत्तिजनक वीडियो वायरल हुआ था. उसी मामले में केस दर्ज करके गिरफ्तारी की गई है.




फोटो से छेड़छाड़ कर बनाया था आपत्तिजनक वीडियो 
बता दें कि बीते दिनों प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री की मुलाकात नई दिल्ली में हुई थी. इस मुलाकात की फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी. आरोप है कि एलएलबी प्रथम वर्ष के छात्र अरुण कुमार यादव ने इसी फोटो से छेड़छाड़ की और एक एप की मदद से आपत्तिजनक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया. इसकी जानकारी होने पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने रविवार के दिन भी कार्यालय खोलकर अनुशासनात्मक कमेटी के जरिए पूरे मामले की छानबीन करायी. मामला सही पाए जाने पर विश्वविद्यालय अध्यादेश के उल्लंघन करने का आरोप लगाकर छात्र को निलंबित कर दिया गया.

साथ ही विश्वविद्यालय के पीआरओ सेल की तरफ से बताया गया कि जांच के लिए अनुशासनात्मक कमेटी ने छात्र अरुण कुमार यादव से मोबाइल नंबर 7007460295 पर संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन मोबाइल बंद मिला. ऐसे में अब नोटिस जारी करके एलएलबी प्रथम वर्ष के छात्र से जवाब मांगा गया है. सकारात्मक जवाब नहीं मिला तो छात्र को विश्वविद्यालय से निष्कासित किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज