Home /News /uttar-pradesh /

gorakhpur urban assembly seat result live update win loss yogi adityanath subhawati shukla chandra shekhar chetna pandey khwaja shamsuddin vijay srivastava

Gorakhpur Urban Election Result UPDATE: योगी आदित्यनाथ ने चंद्रशेखर-सपा को चटाई धूल, दर्ज की बड़ी जीत

गोरखपुर से योगी आदित्यनाथ जीते

गोरखपुर से योगी आदित्यनाथ जीते

Gorakhpur Urban Vidhan Sabha Chunav Result Live: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Adityanath) इस बार गोरखपुर सदर से विधानसभा चुनाव के मैदान में थे और उन्होंने यहां से बड़ी जीत दर्ज की है.. उनसे मुकाबले के लिए भीम आर्मी के नेता चंद्रशेखर (CHANDRA SHEKHAR) भी उतरे थे. उनके अलावा सपा से सुभावती शुक्ला (SUBHAWATI SHUKLA), कांग्रेस से चेतना पांडे (CHETNA PANDEY), बसपा से ख्वाजा शमसुद्दीन (KHWAJA SHAMSUDDIN) और आप से विजय श्रीवास्तव (VIJAY KUMAR SRIVASTAVA) भी किस्मत आजमा रहे थे.

अधिक पढ़ें ...

Gorakhpur Urban Vidhan Sabha Chunav Result Live: यूपी विधानसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ ने बड़ी जीत दर्ज की है. उन्होंने 164170 वोटों के साथ विजय पताका पहराया जबकि उनके नजदीकी प्रतिद्वंदी समाजवादी पार्टी की सुभावती शुक्ला को 60896 वोट मिले हैं. इस तरह योगी आदित्यनाथ ने 1,03,274 वोटों के गैप से जीत दर्ज की है. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में गोरखपुर शहर सुपर वीआईपी सीट मानी जा रही थी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Adityanath) इस बार यहां से विधानसभा का चुनाव लड़ रहे थे. जनसंघ के जमाने से ही भगवा किला बन चुकी इस सीट को भेद पाना अन्‍य दलों के लिए अब तक नामुमकिन रहा है. इस बार यहां से भीम आर्मी के नेता चंद्रशेखर (CHANDRA SHEKHAR) भी मैदान में थे. उनके अलावा सपा से सुभावती शुक्ला (SUBHAWATI SHUKLA), कांग्रेस से चेतना पांडे (CHETNA PANDEY), बसपा से ख्वाजा शमसुद्दीन (KHWAJA SHAMSUDDIN) और आप से विजय श्रीवास्तव (VIJAY KUMAR SRIVASTAVA) भी किस्मत आजमा रहे हैं.

1967 से गोरखपुर है भगवा दुर्ग

गोरखपुर सदर विधानसभा सीट पर 1967 से ही जनसंघ और उसके बाद भाजपा का कब्‍जा रहा है. इस सीट पर गोरखनाथ मंदिर का भी प्रभाव है. भाजपा की जीत की महत्‍वपूर्ण वजह यह भी है. वर्तमान में राधामोहन दास अग्रवाल यहां से विधायक हैं. वह 2002 से लगातार यहां से चुनाव जीतते रहे हैं. राधामोहन दास अग्रवाल बच्‍चों के डॉक्‍टर हैं. सियासत उन्‍होंने बीएचयू कैंपस में सीखी थी. पहले छात्र राजनीति में रहे, शिक्षक होने के बाद शिक्षकों की भी राजनीति की. गोरखपुर में भाजपा के अलावा उनका अपना भी रसूख है.

गोरखपुर शहर सीट का इतिहास

गोरखपुर सदर विधानसभा सीट पर पहला चुनाव 1952 में हुआ था. तब कांग्रेस के इस्‍तफा हुसैन जीते थे. वह 1957 में भी विधानसभा पहुंचे. 1962 में इस्‍तफा हुसैन की जगह कांग्रेस से नियामतुल्‍लाह अंसारी चुनावी समर में उतरे और जीत दर्ज की. यही जीत कांग्रेस की इस सीट पर आखिरी जीत है. इसके बाद इस पर जनसंघ का कब्‍जा हो गया. 1967 में उदय प्रताप दुबे, 1969 रामलाल भाई विधायक बने. 1974 और 77 में अवधेश कुमार श्रीवास्‍तव ने भगवा झंडा फहराया. 1980 और 85 में पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्‍त्री के बेटे सुनील शास्‍त्री भाजपा से विधायक बने. 1989 से 1996 तक लगातार चार बार शिवप्रताप शुक्‍ला ने जीत दर्ज की. 2002 से इस सीट पर डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल विधायक हैं.

जातीय समीकरण

4.29 लाख मतदाताओं वाली गोरखपुर सदर विधानसभा सीट पर ब्राह्मण वोटर करीब 50 हजार, दलित वोटर 48 हजार, मुस्‍लिम 45 हजार, कायस्‍थ व निषाद 35-35 हजार, वैश्‍य 30 हजार, कुर्मी वोटर करीब 28 हजार हैं. गोरखपुर में 23 फरवरी को वोटिंग हुई थी.

Tags: Assembly election, Assembly election 2022, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर