• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • गोरखपुर में 127 साल में सबसे ज्यादा बारिश, 24 घंटे में 193 मिलीमीटर Heavy Rainfall

गोरखपुर में 127 साल में सबसे ज्यादा बारिश, 24 घंटे में 193 मिलीमीटर Heavy Rainfall

UP: गोरखपुर में भारी बारिश ने अक्टूबर के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

UP: गोरखपुर में भारी बारिश ने अक्टूबर के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

UP Weather News: गोरखपुर में पिछले 24 घंटे में 193 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है. ये आंकड़ा पिछले 127 साल में सबसे ज्यादा है. अक्टूबर महीने में इससे पहले सबसे ज्यादा बारिश 2 अक्टूबर 1894 में 218.7 मिलीमीटर रिकॉर्ड की गई थी.

  • Share this:

गोरखपुर. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर (Gorakhpur) में पिछले 30 घंटे में भारी बारिश (Heavy Rainfall) ने अक्टूबर महीने के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. जानकारी के अनुसार गोरखपुर में पिछले 24 घंटे में आज सुबह 8.30 बजे तक 193 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है. ये आंकड़ा पिछले 127 साल में सबसे ज्यादा है. अक्टूबर महीने में इससे पहले सबसे ज्यादा बारिश 2 अक्टूबर 1894 में 218.7 मिलीमीटर रिकॉर्ड की गई थी.

मौसम विभाग के अनुसार अक्टूबर महीने में पिछले तीन दशकों में भारी बारिश की बात करें तो 15 अक्टूबर 2013 में 97 मिलीमीटर बारिश हुई थी. 15 अक्टूबर 2014 को 115 मिलीमीटर बारिश हुई थी, तो 21 अक्टूबर 2005 को 112 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गयी थी. 3 अक्टूबर 2001 को 67 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गयी थी. इसी तरह से 4 अक्टूबर 1996 को 51 मिलीलीटर बारिश रिकार्ड की गयी थी. 5 अक्टूबर 1991 को 50 मिलीमीटर बारिश हुई थी.

गोरखपुर में शुक्रवार सुबह से लगातार हो रही  बारिश ने जनजीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है. गोरखपुर और आसपास के जिलों में लगातार हो रही बारिश के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. सुबह से जिस तरह से बारिश जारी है उससे तो यही लग रहा है कि ये भी रिकार्ड टूट ही जायेगा.

मौसम वैज्ञानिक कैशाल पान्डेय का कहना है कि गोरखपुर और आसपास भारी बारिश हुई है. इसका मुख्य कारण दक्षिण पश्चिम बिहार और सटे यूपी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, जिसके कारण ये बारिश हो रही है. साथ ही कहा कि जलवायु परिवर्तन देखने को मिल रहा है. 2050 तक अतिवृष्टि की संभावना देखी जा रही है. आज जो मौसम में परिवर्तन देखा जा रहा है ये उसी का असर है.

बारिश के कारण धान की फसल, गन्ने की फसल, मक्के की फसल के लिए नुकासनदायक है. 3 अक्टूबर से लोगों को बारिश से कुछ राहत मिल सकती है. 4 अक्टूबर के बाद मौसम सामान्य हो सकता है.  बारिश के कारण गेहूं की बुवाई में भी देरी है. बारिश का मुख्य कारण जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज