लाइव टीवी

जब योगी के मंत्री के सामने BJP विधायक को जूतों से पीटने लगे पार्टी के ही सांसद

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 6, 2019, 11:38 PM IST

योगी सरकार के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन के सामने मेहदावल विधायक और स्थानीय सांसद शरद त्रिपाठी आपस में भिड़ गए. सांसद शरद त्रिपाठी ने मेहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल को सभागार में जूतों से जमकर पीटा.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर जिले में निगरानी सतर्कता कमेटी की बैठक में योगी सरकार के प्रभारी मंत्री आशुतोष टंडन के सामने मेहदावल विधायक और स्थानीय सांसद शरद त्रिपाठी आपस में भिड़ गए. सांसद शरद त्रिपाठी ने मेहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल को सभागार में जूतों से जमकर पीटा. जिस समय यह वाकया हुआ, मौके पर प्रभारी मंत्री भी मौजूद रहे. यह मामला कोतवाली क्षेत्र के कलेक्ट्रेट सभागार का है.

सांसद शरद त्रिपाठी ने श्रेय लेने के चक्कर में अपनी ही पार्टी के विधायक को जूता निकालकर मारा. शिलापट पर नाम न होने पर नाराज़ सांसद ने विधायक को बलभर पीटा. विधायक समर्थकों ने कलेक्टर दफ्तर को  घेर लिया है और विधायक के समर्थकों का कहना है कि वे बदला लेकर रहेंगे. विधायक समर्थकों ने सांसद शरद त्रिपाठी को कलेक्टर के कमरे में बंद कर दिया है. आला पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं. दोनों पक्ष में भारी तनाव है.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सांसदों और विधायकों में जूतम-पैजार पर तंज किया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, "आज उप्र में विश्व की सबसे अनुशासित राजनीतिक पार्टी का दावा करने वाली भाजपा के सांसद व विधायक जी के मध्य जूतों का सादर आदान-प्रदान हुआ. यह आगामी चुनावों में अपनी हार से आशंकित भाजपा की हताशा है. सच तो ये है कि लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए भाजपा को प्रत्याशी ही नहीं मिल रहे हैं."

Loading...



उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा है कि, 'हमने इस घटना का संज्ञान लिया है और दोनों को लखनऊ तलब किया गया है. सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी.'



इस घटना पर बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने खेद जताया है.



झगड़े के बाद शरद त्रिपाठी ने कहा है कि उन्होंने इस घटना के बाद बुरा महसूस किया. उन्होंने कहा कि यह उनके सामान्य व्यवहार के खिलाफ था. उन्होंने कहा कि यदि राज्य प्रमुख ने उन्हें तलब किया है तो वे उनके सामने अपना पक्ष रखेंगे.

कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठे विधायक
सांसद पर कार्रवाई ना होने से नाराज विधायक समर्थकों के साथ कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठ गए हैं. विधायक ने बताया कि वह बुधवार को बांसी-नंदौर सड़क का शुभारंभ था. वहां पर सांसद नहीं पहुंचे थे जिसको लेकर सांसद अधिकारियों से भिड़ रहे थे तो मैंने कहा कि आप अलग से बैठ कर बात कर लीजिएगा. तो फिर सांसद इस बात पर आक्रोशित हो गए. यह उग्रता, जनता के मन में उनके प्रति उनकी हताशा, निराशा है, उसको लेकर वे यहां खीज उतार रहे हैं. वहीं सांसद शरद त्रिपाठी ने कहा कि, जो भी कुछ हुआ वह मेरा आचरण नहीं है. आत्मरक्षा में जो कुछ हुआ है, बहुत दुखद हुआ है. मेरा आचरण ऐसा नहीं है.

रिपोर्ट - अमित अग्रहरि 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 6, 2019, 6:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...