लाइव टीवी

खुलासा: प्रॉपर्टी की खातिर मां ने रची थी बेटे को जेल भेजने की साजिश

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 21, 2018, 2:55 PM IST

सुमित्रा देवी ने प्रॉपर्टी डीलर देशराज पाण्डेय और जितेंद्र पाठक के साथ मिलकर अपने बेटे को फर्जी केस में फंसाकर जेल भेजने की साजिश रच डाली.

  • Share this:
जमीन और जायदाद के लालच में जब अपने ही साजिश करने लग जाएं तो रिश्‍तों की मर्यादा को काफी ठेस पहु्ंचती है. ताजा मामला यूपी के गोरखपुर से सामने आया है. जहां एक मां ने प्रॉपर्टी के लालच में अपने ही बेटे के खिलाफ साजिश रच डाली. महिला ने अवैध तमंचा-कारतूस के साथ बेटे को झूठे मुकदमें में फंसाने की पूरी प्लानिंग की थी, लेकिन समय रहते पुलिस ने साजिश का खुलासा कर दिया. जिससे बेटा जेल जाने से बच गया.

मामला शहर के शाहपुर थाना क्षेत्र के राप्ती नगर इलाके का है. यहां पुलिस ने मास्टरमाइंड महिला समेत चार जालसाजों को गिरफ्तार किया है. वहीं उनके कब्जे से अवैध तमंचा-कारतूस को भी बरामद कर लिया है. मामले का खुलासा करते हुए एसपी सिटी विनय कुमार सिंह ने बताया है कि राप्ती नगर में विधवा महिला सुमित्रा देवी की डेढ़ करोड़ की बेशकीमती जमीन है.

जिसे सुमित्रा देवी गुपचुप तरीके से बेचना चाहती थी. लेकिन सुमित्रा देवी का बेटा श्रवण ऊर्फ गोलू इसका विरोध कर रहा था. ऐसे में प्रॉपर्टी डीलर देशराज पाण्डेय और जितेंद्र पाठक के साथ मिलकर महिला ने अपने बेटे को फर्जी केस में फंसाकर जेल भेजने की साजिश रच डाली. इतना ही नहीं महिला का बहनोई जनार्दन भी इस साजिश का शामिल था.

ये भी पढ़ें- हत्या के मामले में 7 दोषियों को फांसी की सजा, वॉलीबॉल खेलते वक्त हुई थी हत्या

एसपी सिटी के मुताबिक बेटे को तमंचा-कारतूस रखने के मामले में जेल भेजने के बाद महिला किसी विरोध के करोड़ों की प्रॉपर्टी बेचने की फिराक में थी. लेकिन जब जांच के दौरान पुलिस इस मामले की तह तक गई तो मामला प्रॉपर्टी को लेकर रची गई सनसनीखेज साजिश का निकला. इस अनोखे केस को सुलझाने में सीओ क्राइम प्रवीण सिंह ने अहम भूमिका निभाई थी. फिलहाल पुलिस साजिश रचने के आरोप में महिला समेत चार जालसाजों को गिरफ्तार कर लिया है.

ये भी पढ़ें-

VHP की धर्मसभा को लेकर आरएसएस की बैठक, भैयाजी जोशी बोले- लाखों लोग पहुंचेंगे अयोध्या
Loading...

यूपी बोर्ड परीक्षा से पहले प्री-बोर्ड फार्मूला लागू करने की तैयारी में योगी सरकार!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2018, 2:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...