लाइव टीवी

पूर्वांचल की इन VIP सीटों पर लगी है 'माननीयों' की प्रतिष्ठा, ये रहा आंकड़ा

NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: March 4, 2019, 2:08 PM IST
पूर्वांचल की इन VIP सीटों पर लगी है 'माननीयों' की प्रतिष्ठा, ये रहा आंकड़ा
संसद भवन

योगी आदित्‍यनाथ के मुख्‍यमंत्री बनने के बाद खाली हुई गोरखपुर लोकसभा सीट जिसे मंदिर और योगी की सीट माना जाता रहा है, वो सीट भी उप-चुनाव में बीजेपी को गंवानी पड़ी थी.

  • Share this:
देश में लोकसभा चुनाव की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है. साल 2014 के आम चुनाव में मोदी लहर में विपक्षी पार्टियां ताश के पत्‍तों की तरह बिखर गईं थी. मंदिर और योगी का गढ़ माना जाने वाले गोरखपुर-बस्‍ती मंडल में भी बीजेपी ने परचम लहराया था. इसी कड़ी में 2019 चुनाव में सीएम योगी के सामने सबसे बड़ी चुनौती ही इन 9 लोकसभा सीटों पर अपने प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करना. जानाकरों के मुताबिक इन 9 सीटों पर योगी और मंदिर का खासा दबदबा देखने को मिला है. यहीं वजह है कि 2019 चुनाव में सीएम योगी की प्रतिष्ठा इन 9 सीटों पर ज्यादा लगीं है. बता दें कि 2019 का लोकसभा चुनाव काफी रोचक होता जा रहा है. सपा-बसपा गठबंधन ने सभी दलों को परेशानी में तो डाल ही दिया है. वहीं कांग्रेस में प्रियंका गांधी की इंट्री ने भी हलचल पैदा की है.

गोरखपुर लोकसभा सीट

योगी आदित्‍यनाथ के मुख्‍यमंत्री बनने के बाद खाली हुई गोरखपुर लोकसभा सीट जिसे मंदिर और योगी की सीट माना जाता रहा है, वो सीट भी उप-चुनाव में बीजेपी को गंवानी पड़ी थी. समाजवादी पार्टी के प्रत्‍याशी प्रवीण निषाद ने साढ़े बाइस हजार वोटों के अंतर से बीजेपी के उपेन्‍द्र दत्‍त शुक्‍ल को हराकर ये सीट सपा की झोली में डाल दी.

बांसगांव लोकसभा सीट

बांसगांव (सुरक्षित) लोकसभा सीट पर साल 2014 में बीजेपी के कमलेश पासवान ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बसपा के सदल प्रसाद को 1,89,516 मतों के भारी अंतर से हराकर जीत दर्ज की थी. कमलेश को 4,17,959 लाख, तो वहीं बसपा के सदल प्रसाद को 2,28,443 मतों पर संतोष करना पड़ा. साल 2004 में कांग्रेस के महाबीर प्रसाद जीत कर संसद पहुंचे. साल 1999 और 1998 में बीजेपी के राजनारायण पासी ने जीत हासिल की थी.

देवरिया लोकसभा सीट

देवरिया लोकसभा सीट पर साल 2014 में बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले पूर्व कैबिनेट मंत्री कलराज मिश्र ने जीत हासिल की. उन्‍होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बीएसपी के नियाज अहमद को 2,65,386 मतों के भारी अंतर से हराकर जीत हासिल की. साल 2004 में सपा के मोहन सिंह, साल 1999 और 98 में भाजपा के जनरल प्रकाश मणि त्रिपाठी और सपा के मोहन सिंह ने जीत दर्ज की थी.
Loading...

सलेमपुर लोकसभा सीट

सलेमपुर लोकसभा सीट पर साल 2014 में बीजेपी के रविन्‍द्र कुशवाहा ने जीत हासिल की. उन्‍होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी रविशंकर सिंह पप्‍पू को 2,32,342 मतों के अंतर से हराकर जीत हासिल की. साल 2009 में बसपा के राम शंकर राजभर और साल 2004 में सपा के हरबंश प्रसाद ने जीत हासिल की थी. साल 1999 में बब्‍बन राजभर ने बीएसपी के टिकट पर जीत हासिल की थी.

कुशीनगर लोकसभा सीट

कुशीनगर लोकसभा सीट पर साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्‍याशी राजेश पाण्‍डेय उर्फ गुड्डू ने 85,540 मतों के अंतर से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्‍याशी कुंवर आरपीएन सिंह को हराकर जीत हासिल की थी.

महराजगंज लोकसभा सीट

महराजगंज लोकसभा सीट पर साल 2014 में बीजेपी के पंकज चौधरी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बसपा के काशीनाथ शुक्‍ला को 2,58,458 मतों के अंतर से हराकर जीत हासिल की थी. साल 2009 में कांग्रेस के हर्षवर्धन ने जीत हासिल की थी. साल 2004 और 1999 में क्रमशः भाजपा के पंकज चौधरी और सपा के अखिलेश सिंह को जीत मिली थी.

बस्‍ती लोकसभा सीट

बस्‍ती लोकसभा सीट पर साल 2014 में भाजपा के हरीश द्विवेदी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सपा के बृज किशोर सिंह डिंपल को 33,562 मतों के अंतर से हराया.  साल 2009 के लोकसभा चुनाव में बसपा के अ‍रविंद कुमार चौधरी और साल 2004 के चुनाव में बसपा के ही लाल मणि प्रसाद ने जीत का परचम लहराया था.

संतकबीरनगर लोकसभा सीट

संतकबीरनगर लोकसभा सीट पर साल 2014 में मोदी लहर में भाजपा के शरद त्रिपाठी ने सभी प्रतिद्वंदियों को पीछे छोड़ दिया था. उन्‍होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बसपा के भीष्‍म शंकर तिवारी उर्फ कुशल तिवारी को 97,978 मतों से हराकर जीत दर्ज की थी. सपा के भालचंद यादव को 2,40,169 और पीस पार्टी के राजाराम को 69,193 मत मिले थे.

डुमरियागंज लोकसभा सीट

डुमरियागंज लोकसभा सीट पर साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्‍याशी जगदंबिका पाल ने अपने नि‍कटतम प्रतिद्वंदी बसपा के मोहम्‍मद मुकीम को 1,03,588 मतों के अंतर से हराकर जीत दर्ज की थी. साल 2004 के लोकसभा चुनाव में बसपा के प्रत्‍याशी मोहम्‍मद मुकीम ने 52,902 मतों से हाराकर जीत हासिल की थी. मुकीम को 2,02,544, तो वहीं पाल को 1,49,642 मत मिले. साल 1999 और 98 में भाजपा के राम पाल सिंह ने जीत दर्ज की थी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 4, 2019, 12:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...