न गाड़ी, न बंगला...आज भी साइकिल से प्रचार करते हैं ये 3 बार के MLA

तीन बार के विधायक और एक बार के सांसद रहने के बावजूद भी वे सादगी के साथ गठबंधन प्रत्याशी के चुनाव प्रचार में जी-जान से जुटे हैं.

NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 1:32 PM IST
न गाड़ी, न बंगला...आज भी साइकिल से प्रचार करते हैं ये 3 बार के MLA
फिरंगी प्रसाद विशारद
NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 1:32 PM IST
सीएम सिटी गोरखपुर के रहने वाले 80 साल के फिरंगी प्रसाद विशारद प्रेरणा के स्रोत हैं. आज भी वे साइकिल से चलते हैं और आम आदमी की तरह ऑटो रिक्शा में बैठकर सफर भी करते हैं. उन्हें देखकर कोई अंदाजा नहीं लगा सकता है कि वे तीन बार विधायक और एक बार सांसद रह चुके हैं. वे समाजवादी पार्टी के लिए इस उम्र में भी सुबह से देर रात तक चुनाव-प्रचार करते हैं. पार्टी के नए कार्यकर्ताओं के लिए वे एक नजीर भी हैं. फिरंगी प्रसाद बताते हैं कि पहले के चुनाव और इस समय के चुनाव में काफी फर्क है.  उनके मुताबिक उस समय के चुनाव में सादगी ऐसी थी कि जब ये साइकिल से अपने लिए वोट मांगने निकलते थे, तो लोग ने हाथों-हाथ लेते थे.

उन्होंने बताया कि अब जमाना बिल्कुल बदल गया है.  आज के प्रत्याशी और नेता महंगी गाड़ियों से लेकर हेलीकॉप्टर की उड़ान भर रहे है. उन्होंने कहा, '' मैं आज भी साइकिल और आटो रिक्शा से चलता हूं. फिरंगी कहते हैं कि आज धनबल और बाहुबल का इस्तेमाल खुलेआम हो रहा है.

आपको बता दें कि एक फरवरी 1940 को जन्में फिरंगी प्रसाद विशारद 80 साल की उम्र में भी उस युवा की तरह है, जिसमें पूरा जोश और जुनून भरा होता है. तीन बार के विधायक और एक बार के सांसद रहने के बावजूद भी वे सादगी के साथ गठबंधन प्रत्याशी के चुनाव प्रचार में जी-जान से जुटे हैं. विशुनपुरा गांव के रहने वाले फिरंगी साल 1969 में वे पहली बार झंगहा विधानसभा क्षेत्र से भारतीय क्रांति दल से चुनाव लड़कर विधायक बने थे.

1974 में भारतीय लोक दल के टिकट पर मुंडेरा बाजार से चुनाव लड़ कर एक बार विधायक चुने गए. वहीं 1977 में जनता पार्टी के टिकट पर वे बांसगांव लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़े और उन्हें जीत हासिल हुई. फिरंगी ने बताया कि साल 1975 में आपातकाल के दौरान गोरखपुर जेल में मीसा कानून के तहत बंद भी हुए थे.

पेशे से शिक्षक रहे फिरंगी प्रसाद विशारद विशुनपुरा के स्वावलंबी इंटर कॉलेज से साल 2000 में सेवानिवृत्त हुए. आज फिरंगी प्रसाद विशारद का भरा पूरा परिवार है. उनकी पत्नी सिमिरता देवी का साल 2010 में निधन हो गया था. उनके चार पुत्र के साथ तीन विवाहित पुत्रियां हैं.

ये भी पढ़ें:

सुर्खियां: सातवें चरण में 43 आपराधिक छवि वाले प्रत्याशी, अमित शाह के रोड शो में उमड़ा जनसैलाब
Loading...

गोरखपुर में फिर BJP की जीत चाहते हैं ये मुस्लिम शख्स, योगी से है खास कनेक्शन

लोकसभा चुनाव 2019: देवरिया में बंटे पर्चे- 'हेलमेट की करो तैयारी, आ गए हैं जूताधारी’

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार