लाइव टीवी

CM योगी के गढ़ गोरखपुर में चर्चा का केंद्र बना 'उल्टा-पुल्टा' मैन

NAVEEN LAL SURI | News18Hindi
Updated: April 30, 2019, 12:42 PM IST
CM योगी के गढ़ गोरखपुर में चर्चा का केंद्र बना 'उल्टा-पुल्टा' मैन
सतीश वैश्य

'उल्‍टा-पुल्‍टा' के नाम से मशहूर सतीश बताते हैं कि साल 2006 से ही उन्हें उल्टे अक्षरों में लिखने का शौक पैदा हुआ, जब उन्होंने देखा कि एंबुलेंस पर अक्षर उल्टे लिखे हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2019, 12:42 PM IST
  • Share this:
चुनावी शोरगुल के बीच सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर में एक शख्स काफी चर्चा का केंद्र बना हुआ है. गोरखपुर के रहने वाले सतीश वैश्य पेशे से तो व्यापारी है लेकिन, इनके शौके के कारण लोग इन्‍हें मिस्‍टर 'उल्‍टा-पुल्‍टा' कहकर बुलाते हैं. अब लोकसभा चुनाव के दौरान ये चर्चा का केंद्र बने हुए हैं.

दरअसल तीन भाषाओं हिन्‍दी, अंग्रेजी और संस्‍कृत में उल्‍टा लिखने का शौक रखने वाले सतीश का ये शौक ऐसा जुनून बन गया है कि अब इन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बायोग्राफी भी उल्टे अक्षरों में लिख दी है. सतीश भी ऐसी ही शख्सियतों में शुमार हैं, जिन्‍होंने अपने शौक के बूते ये मुकाम हासिल किया है.

'उल्‍टा-पुल्‍टा' के नाम से मशहूर सतीश बताते हैं कि साल 2006 से ही उन्हें उल्टे अक्षरों में लिखने का शौक पैदा हुआ. उस समय उन्होंने देखा कि एंबुलेंस पर अक्षर उल्टे लिखे हुए हैं. जबकि वह मिरर में सीधे दिखाई देते हैं. उनके मन में भी कुछ अलग करने की इच्छा जाहिर हुई. इसके बाद से ही वे उल्टा लिखने की प्रैक्टिस करने लगे. सतीश ने बताया कि उनका यह जुनून ऐसा शौक बन गया कि वे लगातार कई पुस्तकों और ग्रंथों को उल्टा लिख चुके हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की बायो‍ग्राफी के अलावा राम चरित मानस, हनुमान चालीसा, दुर्गा चालीसा, काली चालीसा, सुंदर कांड भी लिख चुके हैं.

बायोग्राफी


सतीश ने कहा कि उनका सपना है कि नरेंद्र मोदी देश के पीएम बने. क्योंकि सीएम योगी और पीएम मोदी की मेहनत का नतीजा है कि आज हमारे देश को विश्व पटल पर एक नई पहचान मिली है. उन्होंने बताया कि सीएम योगी की बायोग्राफी के लिए इन्‍हें इंडियन मोस्‍ट राइजिंग अवार्ड और ब्रॉवो इंटरनेशनल बुक रिकार्ड में अपना नाम दर्ज कराने के साथ ही पड़ोसी देश नेपाल ने इन्‍हें एवरेस्‍ट वर्ल्‍ड रिकार्ड के पुरस्‍कार से सम्‍मानित हो चुके हैं. इसके अलावा भी इन्‍हें कई पुरस्‍कार मिल चुके हैं.

ये भी पढ़ें:

यह जमीन मेरे पति संजय गांधी और बेटे की है, इसलिए दिला रही हूं याद: मेनका गांधीबीएसफ के पूर्व जवान तेज बहादुर बोले- लोगों को पहचानना होगा, देश का असली चौकीदार कौन है?

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 30, 2019, 10:49 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर