• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Manish Gupta Death Case: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सिर, चेहरे और शरीर पर गंभीर चोट के निशान

Manish Gupta Death Case: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सिर, चेहरे और शरीर पर गंभीर चोट के निशान

Gorakhpur: कानपुर के व्यवसायी मनीष गुप्ता की मौत मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने कई राज खोले हैं.

Gorakhpur: कानपुर के व्यवसायी मनीष गुप्ता की मौत मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने कई राज खोले हैं.

Gorakhpur News: मनीष गुप्ता की मौत मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि सिर, चेहरे और शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोट के निशान हैं. सिर के अगले हिस्से पर तेज प्रहार किया गया, जिससे उनके नाक के पास से खून बह रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    गोरखपुर. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर (Gorakhpur) शहर में कानपुर (Kanpur) के एक युवक मनीष गुप्ता की मौत (Manish Gupta Death Case) मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस केस में पुलिस की भूमिका पर शुरू से ही संदेह व्यक्त किया जा रहा था. पुलिस मनीष गुप्ता की मौत को हादसा बता रही थी, वहीं पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद पुलिस की पोल खुल गई है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि सिर, चेहरे और शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोट के निशान हैं. सिर के अगले हिस्से पर तेज प्रहार किया गया, जिससे उनके नाक के पास से खून बह रहा था.

    मनीष गुप्ता अपने दो दोस्तों हरदीप सिंह चौहान और प्रदीप सिंह चौहान के साथ गोरखपुर घूमने गए थे. यहां होटल कृष्णा पैलेस में ठहरे थे. हरदीप के अनुसार आधी रात पुलिस होटल में चेकिंग करने पहुंची. मनीष को सोते हुए जगाया तो उन्होंने पूछा इतनी रात में चेकिंग किस बात की हो रही है? क्या हम आतंकी हैं? इस पर पुलिसवालों ने उसे पीटना शुरू दिया. इसके बाद घायल मनीष को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

    Manish Gupta Death Case: डीएम-एसएसपी कर रहे थे ‘मौत का सौदा’, देखिए वायरल VIDEO

    मामले में विरोध के स्वर उठे तो मृतक की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता की तहरीर पर रामगढ़ ताल थाना प्रभारी समेत तीन पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज किया गया. वहीं एसएसपी ने लापरवाही बरतने पर रामगढ़ताल थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया था. जबकि मुख्यमंत्री अनुकंपा कोष से मृतक व्यापारी की पत्नी को 10 लाख की आर्थिक सहायता का चेक भी दिया गया है. वहीं मृतक व्यापारी मनोज गुप्ता का पोस्टमार्टम होने के बाद शव को उनके परिजनों को सौंप दिया गया.

    मनीष गुप्ता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

    gkp postmortum, Gorakhpur Police, Manish Gupta Death Case,

    Gorakhpur: मनीष गुप्ता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट

    ये है पूरा मामला

    दरअसल, सिकरीगंज के महादेवा बाजार के रहने वाले चंदन सैनी ने बताया कि वह बिजनेस करते हैं. उनके तीन दोस्त गुरुग्राम से प्रदीप चौहान (32) और हरदीप सिंह चौहान (35) और कानपुर से मनीष गुप्ता (30) गोरखपुर घूमने आए थे. 27 सिंतबर की रात रामगढ़ताल थाना पुलिस होटल व सरायों की जांच पर निकली थी. थाने से कुछ दूरी पर स्थित कृष्णा होटल में पुलिस ने एक कमरे की तलाशी ली तो वहां मनीष अपने दो दोस्तों के साथ ठहरा हुआ था. पुलिस के पहुंचने पर मनीष के दोनों साथी उठ गए. पूछताछ के दौरान मनीष के दोनों साथियों ने बताया कि वह गुड़गांव व लखनऊ के रहने वाले हैं.

    Gorakhpur: कानपुर के व्यापारी की मौत मामले में थाना प्रभारी समेत तीन पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस

    उन्होंने पुलिस को बताया कि वह कोई गलत व्यक्ति नहीं हैं. उन्होंने पुलिस को अपना आधार कार्ड भी दिखाया. पुलिस के मुताबिक इस दौरान मनीष नींद में उठा और बेड से नीचे गिर गया. इससे उसके मुंह में चोट लग गई. पुलिस के अनुसार तीनों युवक नशे में थे. पुलिस मनीष को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज लेकर गई. वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

    इनपुट: राम गोपाल द्विवेदी/अनिल सिंह

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज