• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • विदेशी परिंदों के जमघट से खुशनुमा हुआ देवरिया का नजारा

विदेशी परिंदों के जमघट से खुशनुमा हुआ देवरिया का नजारा

देवरिया जिले के कई तालों में सुबह की पहली किरणों के बीच आंखो को सुकून देने वाले नजारे देखने को मिल रहा है. जहां घने कोहरे की चादर मे शैवालिक पक्षियों की आवाज कानो को सुकून देती है तो वहीं उन्हें देखकर दिमाग को भी आराम मिलता है.

देवरिया जिले के कई तालों में सुबह की पहली किरणों के बीच आंखो को सुकून देने वाले नजारे देखने को मिल रहा है. जहां घने कोहरे की चादर मे शैवालिक पक्षियों की आवाज कानो को सुकून देती है तो वहीं उन्हें देखकर दिमाग को भी आराम मिलता है.

देवरिया जिले के कई तालों में सुबह की पहली किरणों के बीच आंखो को सुकून देने वाले नजारे देखने को मिल रहा है. जहां घने कोहरे की चादर मे शैवालिक पक्षियों की आवाज कानो को सुकून देती है तो वहीं उन्हें देखकर दिमाग को भी आराम मिलता है.

  • Share this:
देवरिया जिले के कई तालों में सुबह की पहली किरणों के बीच आंखो को सुकून देने वाले नजारे देखने को मिल रहा है. जहां घने कोहरे की चादर मे शैवालिक पक्षियों की आवाज कानो को सुकून देती है तो वहीं उन्हें देखकर दिमाग को भी आराम मिलता है.

वैसे तो देवरिया जिले में एक दर्जन से अधिक ताल हैं जहां पर विदेशी पक्षियों का जमघट देखने को मिल रहा है. यह तस्वीरें हैं देवरिया जिला मुख्यालय से लगभग बीस किलोमीटर दूर गरेण ताल की जहां पर लोकल परिंदों के आलावा विदेशी पक्षियां भी लोगों का मन बहलाती हैं और सुबह आकर अपने भोजन की तलाश करती हैं.

यहां पर बटेर, गौराया, सारस के आलावा विदेशी साईबेरिन पक्षियों के भी दीदार हो रहे हैं. इन विदेशी पक्षियों को शैवालिक पक्षी कहा जता है जो हल्की ठंड में देवरिया जिले के कई तालों मे लगभग एक माह तक रहती हैं. वहीं इन प्रवासी परिंदों को देखने के लिए सैलानियों का जमावड़ा लगा रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज