अपना शहर चुनें

States

UP Panchayat Chunav 2021: गोरखपुर में विधायकों से ज्यादा ग्राम प्रधानों को मिला विकास निधि

यूपी पंचायत चुनाव 2021
यूपी पंचायत चुनाव 2021

गोरखपुर के सीडीओ (CDO) इन्द्रजीत सिंह का कहना है कि शासन ने गोरखपुर के 37 गांवों को परफार्मेंस ग्रांट के लिए चुना था.

  • Share this:
गोरखपुर. उत्तर प्रदेश में होने वाले पंचायत चुनावों (Panchayat Election) को लेकर तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है. पंचायत चुनाव कई मायने में बेहद खास क्योंकि एक विधायक एक साल में तीन करोड़ रुपये की विकास निधि पाता है और पांच साल में 15 करोड़ रुपये से उसको विकास कराना होता है. गोरखपुर की 34 ऐसी ग्राम पंचायते हैं जिनको परफार्मेंस ग्रांट के रूप में तीन करोड़ रुपये से लेकर 25 करोड़ रुपये तक शासन से पंचायत के विकास के लिए मिले हैं. गोरखपुर के सीडीओ इन्द्रजीत सिंह का कहना है कि शासन ने गोरखपुर के 37 गांवों को परफार्मेंस ग्रांट के लिए चुना था. पर 3 ग्राम पंचायतें नगरीय सीमा में शामिल हो गयीं इसलिए मौजूदा समय में 34 गांवों को परफार्मेंस ग्रांट मिली है.
ग्राम पंचायत में स्वीकृत धनराशि

1- नकौड़ीखास 3 करोड़ 68 लाख 2- नेवास 8 करोड़ 54 लाख 3- नारंगपट्टी 3 करोड़ 50 लाख 4- भैवापार 15 करोड़ 17 लाख 5- जंगल दीर्धन सिंह 3 करोड़ 89 लाख 6- सीयर 4 करोड़ 15 लाख 7- भीमापार 3 करोड़ 91 लाख 8- सिसवा 5 करोड़ 95 लाख 9- नरायनपुर 6 करोड़ 86 लाख 10- छितौना 3 करोड़ 25 लाख 11- किशुनपुर 4 करोड़ 48 लाख 12- परसिया तिवारी 7 करोड़ 54 लाख 13- कटया 3 करोड़ 92 लाख 14- औरंगाबाद 3 करोड़ 38 लाख 15- जंगल हरपुर 9 करोड़ 98 लाख 16- बेलवा 5 करोड़ 47 लाख17- परमेश्वरपुर 19 करोड़ 53 लाख 18- बनकटा 3 करोड़ 75 लाख19- भड़सरा 4 करोड़ 28 लाख रुपये जारी किए गए थे.

आजमगढ़ में बनेगा अखिलेश यादव का भव्य 'आशियाना', जमीन की हुई रजिस्ट्री
20- कजीपुर 4 करोड़ 49 लाख 21- तुर्कवलिया 11 करोड़ 95 लाख 22- बांसपार 3 करोड़ 86 लाख 23- बेलीपार 6 करोड़ 25 लाख 24- कौड़ीराम 5 करोड़ 39 लाख 25- जयपाल गुर 4 करोड़ 72 लाख 26- सखडाड पाण्डेय 6 करोड़ 25 लाख 27- भेउसा 18 करोड़ 33 लाख 28- मकरहटा 3 करोड़ 10 लाख29- मुस्तफाबाद 3 करोड़ 59 लाख 30- रुद्रापुर 17 करोड़ 45 लाख 31- भड़सार 13 करोड़ 82 लाख 32- रघुनाथपुर 8 करोड़ 50 लाख 33- जंगल रानी सुहास कुंवरी 25 करोड़ 17 लाख 34- मरचा 2 करोड़ 92 लाख स्वीकृत हुए थे.



इन 34 ग्राम पंचायतों में से 5 ग्राम पंचायत ऐसी हैं जिनका बजट 15 करोड़ रुपये से अधिक है. इन ग्राम पंचायतों को शासन ने ये पैसा एलाट कर दिया है. पहली किस्त के रूप में इन सभी गांवों को 50 लाख रुपये मिल भी गये. उसके बाद प्रधानों का कार्यकाल खत्म हो जाने के कारण पैसा फ्रीज हो गया. अब बाकी बचा पैसा जब नयी पंचायत चुनकर आयेगी तो वो विकास के कामों में खर्च करेगी. इसलिए इन गांवों में प्रधानी का चुनाव विधायकी के चुनाव का रंग ले रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज