Assembly Banner 2021

गाजीपुर हिंसा: कांस्‍टेबल की मौत को निषाद पार्टी ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद

निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद

संजय निषाद ने दावा किया कि उनकी पार्टी अहिंसात्मक आंदोलन में विश्वास करती है और उनके कार्यकर्ता ऐसी किसी भी घटना को अंजाम नहीं दे सकते.

  • Share this:
आरक्षण की मांग कर रहे निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा गाजीपुर में पुलिस वालों पर पथराव और एक सिपाही की मौत को लेकर प्रदेश सरकार ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की बात कही है. इसी कड़ी में गोरखपुर पहुंचे निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा है कि घटना में उनके कार्यकर्ताओं का नहीं बल्कि बीजेपी के लोगों का हाथ है.

संजय निषाद ने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग भी करते हुए घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. संजय निषाद ने दावा किया कि उनकी पार्टी अहिंसात्मक आंदोलन में विश्वास करती है और उनके कार्यकर्ता ऐसी किसी भी घटना को अंजाम नहीं दे सकते. डॉ संजय निषाद ने आरोप लगाया कि इस तरह की स्थिति पैदा करने का काम उत्तर प्रदेश सरकार ने किया है क्योंकि निषादों को आरक्षण देने की बात तो यूपी सरकार करती है. लेकिन उनको उनका हक नहीं देती है जिसके कारण निषाद आज सड़कों पर उतरे हुए हैं.

दरअसल, मामला नोनहरा थाना क्षेत्र के कठवामोड़ पुलिस चौकी के पास का है. मृतक कांस्टेबल का नाम सुरेश वत्स है और ये करीमुद्दीनपुर थाने में तैनात थे. वाकया उस वक्त का है जब आरक्षण की मांग को लेकर निषाद समाज के लोगों ने चक्काजाम कर रखा था. जब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर भीड़ को काबू करने की कोशिश की तो भीड़ ने पुलिस पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए. इसी बीच प्रदर्शनकारियों की तरफ से लगातार हो रही पत्थरबाजी में कांस्टेबल सुरेश वत्स की मौत हो गई थी.



ये भी पढ़ें:
गाजीपुर हिंसा मामले में 100 से अधिक प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केस दर्ज, अब तक 11 गिरफ्तार

गोपाल गुप्ता बने IPS एसोसिएशन के नए अध्यक्ष, छाया रहा काडर प्रबंधन का मुद्दा

ठंड से बचने के लिए कमरे में जलाया 'रूम हीटर', दम घुटने से मां-बेटे की मौत

यूपी STF ने बरामद की 2 करोड़ की हेरोइन, एक तस्कर गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज