Home /News /uttar-pradesh /

UP Election 2022: चुनाव से पहले आमने सामने निषाद और वीआईपी पार्टी, संजय निषाद ने कसा तंज

UP Election 2022: चुनाव से पहले आमने सामने निषाद और वीआईपी पार्टी, संजय निषाद ने कसा तंज

Gorakhpur: संजय निषाद ने कहा- अगर मैं अपनी पार्टी छोड़ता तो भाजपा मुझे कबका राज्यसभा भेज देती.

Gorakhpur: संजय निषाद ने कहा- अगर मैं अपनी पार्टी छोड़ता तो भाजपा मुझे कबका राज्यसभा भेज देती.

UP Politics: संजय निषाद ने कहा कि निषाद पार्टी निषादों की पार्टी है. यहां कैश नहीं कैडर वाली पार्टी है. कुछ निगेटिव वोट हैं वो उनको मिल जायेगा, पैवा के लेवल पर कुछ लोग आ जाते हैं. वहीं लोग उनके पास आ रहे हैं. निषादों के लिए उनके आरक्षण के लिए मैने बहुत लड़ाई लड़ी है. पांच राज्यों में सबको पता है कि निषादों के लिए कौन काम किया है. बिहार चुनाव में हमने उनकी मदद की थी. 2023 में मैं फिर उनकी बिहार चुनाव में मदद करेंगे. वो जाएं और वहां की तैयारी करें. निषाद वोट को मैने इक्कठा किया है. 2022 में निषाद पार्टी चुनाव लड़ेगी और जीतेगी. 2017 में 300 से अधिक पार्टियां चुनाव लड़ी थीं.

अधिक पढ़ें ...

गोरखपुर. मिशन 2022 को लेकर यूपी में निषाद वोट बैंक को लेकर सभी राजनीतिक दल अपने अपने दावे कर रहे हैं. निषादों के नाम पर बनी दो पार्टियां यूपी की निषाद पार्टी (Nishad Party) और बिहार की वीआईपी पार्टी (VIP Party) अब आमने सामने है. वीआईपी के मुकेश साहनी के यूपी में चुनाव लड़ने के ऐलान और निषाद पार्टी पर हमलावर रूख पर अब संजय निषाद ने भी पलटवार करते हुए मुकेश साहनी को विभीषण बता डाला. संजय ने कहा कि वो समाज में बिखराव करने आ रहे हैं. बिहार चुनाव के समय हमने उनका साथ दिया था उन्हे भी हमारा साथ देना चाहिए. साथ ही कहा कि उनका कोई आस्तित्व ही नहीं है वो भाजपा के टिकट पर एमएलसी बनकर मंत्री बने हैं जबकि मैं अपनी पार्टी से ही एमएलसी हूं, अगर मैं अपनी पार्टी छोड़ता तो भाजपा मुझे कबका राज्यसभा भेज देती.

संजय निषाद ने कहा कि निषाद पार्टी निषादों की पार्टी है. यहां कैश नहीं कैडर वाली पार्टी है. कुछ निगेटिव वोट हैं वो उनको मिल जायेगा, पैवा के लेवल पर कुछ लोग आ जाते हैं. वहीं लोग उनके पास आ रहे हैं. निषादों के लिए उनके आरक्षण के लिए मैने बहुत लड़ाई लड़ी है. पांच राज्यों में सबको पता है कि निषादों के लिए कौन काम किया है. बिहार चुनाव में हमने उनकी मदद की थी. 2023 में मैं फिर उनकी बिहार चुनाव में मदद करेंगे. वो जाएं और वहां की तैयारी करें. निषाद वोट को मैने इक्कठा किया है. 2022 में निषाद पार्टी चुनाव लड़ेगी और जीतेगी. 2017 में 300 से अधिक पार्टियां चुनाव लड़ी थीं.

UP assembly elections: प्रियंका की पॉलिटिक्स से बुंदेलखंड के राजनीतिक गलियारों में हलचल

निषाद पार्टी पांचवे नंबर पर थी इस समय हम दूसरे नंबर की पार्टी हैं. जिसके चर्चे हैं उसी के पर्चे हैं. साथ ही संजय ने कहा कि मुकेश साहनी भाजपा के सदस्य हैं. वो किस मुंह से बात करते हैं. हम अपने लोगों को खाजाना की तरफ लेकर जा रहे हैं, खाजाना लखनऊ में है. हम अपने लोगों को लेकर वहां जा रहे हैं. साथ ही कहा कि मैं एक बार फिर से उनसे कहना चाहता हूं कि वो बिहार वापस जाएं, उनपर विभीषण का आरोप न लगे. यूपी में निषाद पार्टी ही है.

आपके शहर से (गोरखपुर)

गोरखपुर
गोरखपुर

Tags: BJP, Gorakhpur news, Nishad Party, Sanjay Nishad, UP Election 2022, UP politics, VIP Seats, गोरखपुर

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर