• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • अब गोरखपुर में पानी की तरह घर में पहुंचेगी रसोई गैस, सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया उद्घाटन

अब गोरखपुर में पानी की तरह घर में पहुंचेगी रसोई गैस, सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने कहा कि टोरेंट को इस वर्ष मार्च के अंत तक गोरखपुर में 10000 पीएनजी कनेक्शन देने का लक्ष्य दिया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि टोरेंट को इस वर्ष मार्च के अंत तक गोरखपुर में 10000 पीएनजी कनेक्शन देने का लक्ष्य दिया गया है.

PNG Vs LPG : खानिमपुर में आयोजित समारोह में सीएम योगी ने कहा कि गैस सिलेंडर से सस्ती होगी पीएनजी. इससे करीब 35-40 फीसद की बचत होगी. साथ ही पाइपलाइन से आपूर्ति मिलने से गैस सिलेंडर ढोने की समस्या भी समाप्त होगी. जितना खर्च होगा, उतना ही बिल आएगा.

  • Share this:

लखनऊ. बीते साढ़े चार साल से विकास के पैमाने पर आसमान छूने को आतुर गोरखपुर की उपलब्धियों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक और नगीना जड़ दिया. गोरखपुर का नाम अब उन चुनिंदा शहरों में शुमार हो गया है, जहां पाइपलाइन से रसोई गैस की आपूर्ति होती है. सरकार का साथ पाकर टोरेंट कंपनी ने पीएनजी (पाइप्ड नेचुरल गैस) की सप्लाई का काम शुरू किया है. इसकी विधिवत शुरुआत रविवार को सीएम योगी ने खानिमपुर में आयोजित कार्यक्रम में की. सीएम ने गोरखपुर में टोरेंट के सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क के पहले चरण के तहत 101 लोगों को घरेलू पीएनजी रसोई गैस का कनेक्शन देने के साथ ही 8 सीएनजी व सिटी गेट स्टेशन, पराग डेरी में औद्योगिक गैस कनेक्शन व प्रदेश में 13 स्थानों पर स्थापित ऑक्सीजन प्लांट की भी शुरुआत की. इस अवसर पर पीएनजी को रसोई गैस का बेहतरीन विकल्प बताते हुए कहा कि अब पानी की तरह घर-घर रसोई गैस पहुंचेगी.

खानिमपुर में आयोजित समारोह में सीएम योगी ने कहा कि परंपरागत गैस सिलेंडर से सस्ती होगी पीएनजी. इससे करीब 35-40 फीसद की बचत होगी. साथ ही पाइपलाइन से आपूर्ति मिलने से गैस सिलेंडर ढोने की समस्या भी समाप्त होगी. जितना खर्च होगा, उतना ही बिल आएगा. यानी गैस चोरी की शिकायत भी नहीं रहेगी. कोई भी मौसम हो, रसोई गैस की किल्लत नहीं होगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि टोरेंट को इस वर्ष मार्च के अंत तक गोरखपुर में 10000 पीएनजी कनेक्शन देने का लक्ष्य दिया गया है.

547 ऑक्सीजन प्लांट की योजना, 490 क्रियाशील

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टोरेंट गैस की तरफ से प्रदेश में स्थापित 13 ऑक्सीजन प्लांट का भी उद्घाटन किया. इसके लिए उन्होंने टोरेंट को धन्यवाद देते हुए कहा कि ऑक्सीजन उत्पादन में उत्तर प्रदेश आत्मनिर्भर हो रहा है. कोरोना की दूसरी लहर में पूरी दुनिया ने भीषण ऑक्सीजन संकट का सामना किया था, टोरेंट जैसी संस्थाओं ने यूपी में ऑक्सीजन आपूर्ति और अन्य चिकित्सकीय संसाधनों की व्यवस्था कराने में योगदान दिया था. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश को 127 ऑक्सीजन प्लांट दिए हैं. प्रदेश में 547 ऑक्सीजन प्लांट लग रहे हैं, जिनमें से 490 क्रियाशील हो चुके हैं. कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी की भी शिकायतें आ रही थीं, लेकिन अब प्लांट के जरिये वातावरण से ही ऑक्सीजन का निर्माण हो जाने से ऐसी सभी समस्याओं का समाधान हो गया है. सीएम योगी ने कोविड काल के दौरान मुख्यमंत्री सहायता कोष में 5 करोड़ रुपये दान देने के लिए टोरेंट की प्रशंसा की और कहा कि इस कंपनी ने आगरा में बिजली सुधार के क्षेत्र में भी अच्छा प्रयास किया है.

बेहतरीन विकल्प मिले

सीएम योगी ने कहा कि सीएनजी और पीएनजी के माध्यम से पीएम मोदी की स्वच्छ ईंधन की परिकल्पना साकार हो रही है. पीएम के प्रति आभार जताते हुए सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले लोगों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन दिया, अब उनकी प्रेरणा से रसोई गैस का स्वच्छ, सुरक्षित और सस्ता बेहतरीन विकल्प मिल रहा है. साथ ही सीएनजी के रूप में डीजल-पेट्रोल का नया, सस्ता और स्वच्छ विकल्प मिला है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज