गोरखपुर: महाशिवरात्रि पर शिवलिंग पर मत्था टेकते ही दादी मां के उड़ गए प्राण पखेरू

गोरखपुर: पड़ोसी नरेंद्र कुमार नंदू ने बताया कि मंदिर में देखा कि महिला शिवलिंग पर ही गिरी पड़ी हुई हैं. अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

गोरखपुर: पड़ोसी नरेंद्र कुमार नंदू ने बताया कि मंदिर में देखा कि महिला शिवलिंग पर ही गिरी पड़ी हुई हैं. अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

Gorakhpur News: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक वृद्ध महिला की मौत चर्चा का विषय बनी हुई है. महिला के पोते ने बताया कि महाशिवरात्रि (Mahashivrattri) पर मंदिर में पूजा करने गई उसकी 60 वर्षीय बुजुर्ग दादी ने जैसे ही शिवलिंग पर मत्था टेका, वैसे ही उनके प्राण निकल गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 10:10 PM IST
  • Share this:
गोरखपुर. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर (Gorakhpur) में महाशिवरात्रि (Mahashivratri) के मौके पर संयोगवश हुई अनोखी घटना लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है. यहां एक गांव में पूजन-अर्चन के लिए गई वृद्धा के शिवलिंग पर मत्‍था टेकते ही प्राण निकल गए. वृद्धा गांव के शिव मंदिर पर रोज की भांति भोर में 4 बजे जल चढ़ाने के लिए पहुंची. वहां उसने पूजन-अर्चन के बाद जैसे ही शिवलिंग को पकड़कर मत्‍था टेका, वो अचेत हो गई, शरीर निष्प्राण लगा. आनन-फानन में परिजन उसे लेकर अस्‍पताल गए, जहां चिकित्‍सकों ने उन्‍हें मृत घोषित कर दिया.

बता दें कि गोरखपुर के नौसड़ चौक के पास स्थित हैरया गांव में शिव मंदिर है. यहां पर गांव के रहने वाले 65 वर्षीय जमुना प्रसाद कसौधन अपनी पत्‍नी विभक्ति देवी (60 वर्ष) के साथ महाशिवरात्रि के अवसर पर शिव मंदिर में पूजन-अर्चन करने गए थे. भोर में 4 बजे मंदिर पहुंचने के बाद उन्‍होंने भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक किया. इसके बाद उन्‍होंने शिवलिंग पर हाथ रखकर मत्‍था टेका. मत्‍था टेकते ही विभक्ति देवी के प्राण-पखेरू उड़ गए.

Youtube Video


शरीर छूते ही एक ओर गिर गईं दादी: पोता रमेश कुमार
उनके पोते रमेश कुमार ने बताया कि पूजा करते ही उनकी दादी ने जैसे ही शिवलिंग पर मत्था टेका, उसके बाद कोई हलचल नहीं हुई. उनके बाबा जमुना प्रसाद ने पत्नी विभक्ति देवी को कई बार आवाज लगाई. रमेश कुमार ने बताया कि पुकार सुनने के बाद भी कोई जवाब नहीं मिलने पर जब बाबा जमुना प्रसाद ने उनको छुआ तो देखा कि दादी विभक्ति देवी के प्राण निकल चुके थे. उनके शरीर को छूते ही वे एक ओर गिर गईं. जमुना प्रसाद के दो पुत्र और तीन पुत्री हैं. बचपन से ही पूजा-पाठ में लीन रहने वाली विभक्ति देवी की महाशिवरात्रि के मौके पर शिवलिंग पर मत्‍था टेकते ही मौत होने से लोग हैरत में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज