• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • मुख्यमंत्री के गृह मंडल में लक्ष्य से 110% ज्यादा हुई धान की खरीदारी, अभी भी खुले हैं क्रय केंद्र

मुख्यमंत्री के गृह मंडल में लक्ष्य से 110% ज्यादा हुई धान की खरीदारी, अभी भी खुले हैं क्रय केंद्र

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

महराजगंज जिले में भी किसानों से जमकर धान की खरीदारी हुई है. महाराजगंज में धान खरीदारी का लक्ष्य 210000 मिट्रिकटन रखा गया था. जबकि 232705 मिट्रिक टन हुई है.

  • Share this:
    गोरखपुर. धान खरीद को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के सख्ती का असर गोरखपुर मंडल में साफ दिखाई दे रहा है. जहां पर जो लक्ष्य रखा गया था उससे अधिक की धान की खरीदारी कर ली गयी है. गोरखपुर जिले में धान खरीद का लक्ष्य 130000 मीट्रिक टन धान रखा गया था जबकि अभी तक 145780 मिट्रिकटन धान की खरीददारी हो चुकी है. 143 धान क्रय केन्द्रो पर ये धान 25822 किसानों से खरीदी गयी है. जबकि पिछले साल 86748.74 मिट्रिकटन ही धान की खरीदारी हुई थी.

    महराजगंज जिले में भी किसानों से जमकर धान की खरीदारी हुई है. महाराजगंज में धान खरीदारी का लक्ष्य 210000 मिट्रिकटन रखा गया था. जबकि 232705 मिट्रिक टन हुई है. 204 क्रय केन्द्रों से ये धान 43612 किसानों से खरीदा गया है. जबकि पिछले साल महराजगंज में 191373.97 मिट्रिक टन ही धान की खरीदारी हुई थी.

    इसी तरह से देवरिया में भी इस साल रिकार्ड खरीदारी की गयी है. देवरिया मे धान खरीद का लक्ष्य 80000 मिट्रिक टन रखा गया था जबकि खरीदारी 84946 मिट्रिक टन हुई है. 102 क्रय केन्द्रों पर 15529 किसानों से ये खरीदारी की गयी है. जबकि पिछले साल देवरिया में 53539.13 मिट्रिक टन ही धान की खरीदारी की गयी थी.



    कुशीनगर में भी धान की खरीदारी पिछले साल इस बार अधिक की गयी है. कुशीनगर में धान की खरीदारी करने का लक्ष्य 75000 मिट्रिक टन रखा गया था जबकि इस बार 73 क्रय केन्द्रों से 88487 मिट्रिक टन धान की खरीदारी हुई है. ये धान 18296 किसानों से खरीदी गयी है. जबकि पिछले साल 62696 मिट्रिक टन ही धान की खरीदारी की गयी थी.

    आरएफसी संजीव रंजन का कहना है कि भले ही धान की खरीदारी को लक्ष्य से अधिक कर लिया गया है पर 28 फरवरी तक अगर किसान धान लेकर क्रय केन्द्रों पर आता है तो उसके धान की खरीदारी जरूर की जायेगी. वहीं गोरखपुर के वनसप्ती के पास स्थित धान क्रय केन्द्र के प्रभारी एसके पाठक का कहना है कि अब किसान बहुत कम संख्या में धान बेंचने आ रहे हैं. दो तीन दिनों में एक या दो किसान ही आ रहे हैं, जो भी किसान धान बेचना चाह रहा है उसके धान की खरीदारी की जा रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज