गोरखपुर: पोल्ट्री उद्योग पर कोरोना की काली छाया, कटहल ने तोड़े बिक्री के सारे रिकार्ड
Gorakhpur News in Hindi

गोरखपुर: पोल्ट्री उद्योग पर कोरोना की काली छाया, कटहल ने तोड़े बिक्री के सारे रिकार्ड
गोरखपुर में कटहल ने तोड़े बिक्री के सारे रिकॉर्ड

कोरोना वायरस का खौफ पोल्ट्री उद्योग पर साफ देखा जा सकता है. होली पर नॉनवेज (Non Veg) खासतौर पर मुर्गे की बिक्री काफी कम हुई है जबकि कटहल (Jackfruit) ने बिक्री के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये हैं.

  • Share this:
गोरखपुर. कोरोना वायरस (Coronavirus) का खौफ और अफवाह इन दिनों चारो तरफ देखने को मिल रहा है. तभी तो पोल्ट्री उद्योग बर्बाद होने के कगार पर पहुंच गया है. होली के मौके पर पोल्ट्री उद्योग (Poultry Bussiness) में शामिल लोग इसके सुधरने की उम्मीद जता रहे थे पर हालत जस के तस बने हुए हैं, पर लोगों के मुर्गे से मोहभंग होने का फायदा सब्जी व्यापारियों को मिल रहा है. होली में सब्जियों की बिक्री में तेजी आई है, हरी सब्जी और गोभी की बिक्री में जबरदस्त उछाल देखने को मिल रहा है. लेकिन कटहल ने बिक्री के मामले में सबको पीछे छोड़ दिया है.

कटहल ने तोड़े बिक्री के सारे रिकार्ड
होली में इस बार कटहल की ब्रिकी ने सारे रिकार्ड तोड़ दिये हैं. गोरखपुर की थोक मंडी में पिछले तीन दिनों में 350 टन के करीब कटहल बिक गया. अगर पिछले साल के होली के दिनों में कटहल के बिक्री की बात करें तो इस दो सौ गुना ब्रिकी अधिक हुई है. गोरखपुर मंडी में थोक के व्यापारियों का कहना है कि बंगाल, उड़ीसा, आंध्रप्रदेश और केरल से यहां पर कटहल आये हैं. थोक मार्केट में सबसे मंहगा बंगाल का कटहल बिक रहा है जो करीब 50 रुपये किलो है, तो वहीं फुटकर मार्केट में 120 रुपये किलो तक कटहल बिक रहा है. जबकि केरल से आया कटहल थोक मार्केट में 20 से 25 रुपये किलो तो फुटकर में 60 रुपये किलो तक बिक रहा है. होली में सिर्फ कटहल ही नहीं और भी सब्जियों में बिक्री तेज हुई है, हरी सब्जी और गोभी की बिक्री में जबरदस्त उछाल देखने को मिल रहा है.

कोरोना के कारण कम हुई मुर्गे की बिक्री
होली में कोरोना के कारण नॉनवेज खासकर मुर्गे की बिक्री बहुत कम हुई है. और इसका असर प्याज मार्केट पर भी देखने को मिल रहा है. प्याज के थोक विक्रेताओं का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल प्याज आधा भी नहीं बिका है, हालाकि मंहागाई भी प्याज के अधिक नहीं बिकने का एक कारण हो सकता है. पिछले साल प्याज जहां 15 से 20 रुपये किलो मिल रहा था, वहीं इस साल प्याज 35 से 40 रुपये किलो बिक रहा है. यानी कि इस बार होली में नॉनवेज डाऊन है जबकि सब्जियों की मांग बढ़ी है, खासकर होली में सबसे अधिक पंसद की जाने वाली कटहल की मांग खुब रही.



ये भी पढ़ें -
CAA हिंसा: योगी सरकार को इलाहाबाद हाईकोर्ट की सख्‍त हिदायत, पढ़ें आदेश की पांच खास बातें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज