गोरखपुर: पूर्व प्रधान व भाजपा नेता बृजेश सिंह की हत्या का खुलासा, पंजाब के शूटरों ने दिया था वारदात को अंजाम

पूर्व प्रधान व भाजपा नेता बृजेश सिंह की हत्या का खुलासा (file photo)

पूर्व प्रधान व भाजपा नेता बृजेश सिंह की हत्या का खुलासा (file photo)

बहादुर चौहान और जितेंद्र सिंह ने मिलकर अमृतसर के पंजाब (Punjab) से दो शूटरों को हत्या की सुपारी दे डाली.

  • Share this:
गोरखपुर. गोरखपुर (Gorakhpur) के गुलरिहा थाना क्षेत्र के नरायनपुर के पूर्व प्रधान व भाजपा (BJP) के सेक्टर प्रभारी बृजेश सिंह की हत्या का खुलासा पुलिस ने रविवार को कर दिया. पुलिस के मुताबिक करोड़ों की विवादित जमीन को लेकर पूर्व प्रधान की हत्या की गयी थी. इस वारदात को पंजाब के शूटरों ने स्थानीय बदमाशों के साथ अंजाम दिया था. वहीं प्रॉपर्टी कारोबारी बहादुर चौहान और रामसमुझ ने हत्या की साजिश रची थी. पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए मास्टरमाइंड बहादुर चौहान समेत पांच हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है. जबकि पंजाब के फरार दोनों शूटरों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया है.

हत्यारोपियों के पास से तमंचा, कारतूस औ र हत्या में इस्तेमाल बाइक की भी बरामदगी की गयी है. घटना का खुलासा करते हुए एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया है कि गुलरिया थाना क्षेत्र में बीते 2 अप्रैल को बीजेपी नेता और पूर्व प्रधान बृजेश सिंह की गोली मारकर हत्या हुई थी. इस मामले में पुलिस ने कुछ आरोपियों को हिरासत में लिया था लेकिन पूछताछ के बाद उनकी संलिप्ता नहीं पाने पर उनको छोड़ दिया गया था. हालांकि पुलिस और क्राइम ब्रांच घटना के अनावरण में लगी हुई थी. इस दौरान जांच पड़ताल में रामसमुझ का नाम सामने आया था. जिस पर पुलिस ने जब रामसमुझ को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो हत्याकांड का पर्दाफाश हुआ है.

UP News: सीएम योगी की बड़ी पहल, देवलोक काशी बनेगा विश्‍व की सबसे बड़ी संस्‍कृत नगरी

एसएसपी ने बताया कि रामसमुझ और बृजेश सिंह के परिवार में कई सालों से जमीन का विवाद चल रहा था. जिसका फैसला नहीं होने पर रामसमुझ ने अपनी जमीन बहादुर चौहान और जितेंद्र सिंह को एग्रीमेंट के तहत हैंड ओवर कर दिया था. लेकिन बृजेश सिंह की जीते जी जमीन हासिल नहीं होता देख दोनों ने उनकी हत्या की साजिश रच डाली. और हत्या का समय पंचायत चुनाव का चुना. ताकि ब्रजेश सिंह की हत्या को अंजाम देकर पूरा मामला चुनावी रंजिश का दिखाकर पुलिस को गुमराह किया जा सके.
पंजाब के अमृतसर से आए थे शूटर

वहीं बहादुर चौहान और जितेंद्र सिंह ने मिलकर अमृतसर के पंजाब से दो शूटरों को हत्या की सुपारी दे डाली. शूटरों को जमीन के पैसे का 20 पर्सेंट देने का आश्वासन दिया गया था. जबकि 8 हजार रुपये एडवांस दिया गया था. बता दें कि बृजेश सिंह को गोली मारने में सतनाम और राजवीर के साथ जितेंद्र सिंह भी शामिल था. फिलहाल पंजाब के दोनों शूटरों पर पुलिस ने इनाम घोषित करते हुए उनकी गिरफ्तारी में जुट गयी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज