Home /News /uttar-pradesh /

पूर्वांचल के बाद अब उत्तरी पूर्वांचल को सौगात: 2022 तक तैयार हो जाएगा गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे

पूर्वांचल के बाद अब उत्तरी पूर्वांचल को सौगात: 2022 तक तैयार हो जाएगा गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे

पूर्वांचल के बाद अब उत्तरी पूर्वांचल में 2022 तक तैयार हो जाएगा गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे.

पूर्वांचल के बाद अब उत्तरी पूर्वांचल में 2022 तक तैयार हो जाएगा गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे.

Gorakhpur Link Expressway: पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के बाद अब उत्तरी पूर्वांचल यानि गोरखपुर वाले हिस्से के लोगों की उम्मीदें बढ़ गई हैं. गोरखपुर से करीब 90 किलोमीटर लम्बी एक लिंक एक्सप्रेसवे निकल रही है, जो आजमगढ में जाकर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से मिलेगी. गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे दिसम्बर 2022 में तैयार हो जायेगा. इस सड़क से लोगों के लिए लखनऊ और दिल्ली का सफर आसान हो जाएगा. गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे जैतपुर गांव के पास एनएच 27 से शुरू होगा और आजमगढ़ के सालारपुर गांव के पास जाकर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से मिल जायेगा.

अधिक पढ़ें ...

गोरखपुर. पूर्वांचल एक्सप्रेसवे (Purvanchal Expressway) के लोकार्पण के बाद अब उत्तरी पूर्वांचल यानि गोरखपुर (Gorakhpur) वाले हिस्से के लोगों की उम्मीदें बढ़ गई हैं. गोरखपुर से करीब 90 किलोमीटर लम्बी एक लिंक एक्सप्रेसवे निकल रही है, जो आजमगढ में जाकर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से मिलेगी. गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे दिसम्बर 2022 में तैयार हो जायेगा. इसके बाद इस सड़क से लोग और आसानी से लखनऊ और दिल्ली का सफर तय कर पायेंगे.

गोरखपुर के लोगों के पास एक बेहतरीन सड़क का विकल्प होगा. गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे जैतपुर गांव के पास एनएच 27 से शुरू होगा और आजमगढ़ के सालारपुर गांव के पास जाकर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से मिल जायेगा. एक्सप्रेसवे की लंबाई 91.35 किमी है. लिंक एक्सप्रेसवे गोरखपुर, अंबेडकरनगर, संतकबीरनगर और आजमगढ़ से होकर गुजरेगा. इसकी चौड़ाई फोरलेन होगी, लेकिन इसकी संरचना सिक्स लेन की होगी. इसके एक तरफ 3.75 मीटर चौड़ाई की सर्विस रोड स्टैगर्ड रूप में बनाई जा रही है. इससे एक्सप्रेसवे के किनारे रहने वाले ग्रामीण आसानी से आ जा सकेंगे.

ग्रामीण सद्धीश्वर साहनी का कहना है कि इस लिंक एक्सप्रेसवे से वो आसानी से और तेजी से दिल्ली तक का सफर कर सकेंगे. गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के दोनों तरफ औद्योगिक गलियारे विकसित किये जायेंगे. मौजूदा समय में गीडा ने चार गांवों में जमीन अधिग्रहण की तैयारी तेज की है. इसी के साथ वाणिज्यक और आवासीय प्लाट भी होगा. गीडा की वेवसाइट पर मास्टर प्लान के ड्राफ्ट को अपलोड किया गया है. 27 नम्बर तक सुझाव और आपत्तियां दी जा सकती है.

ड्राफ्ट के हिसाब से अधिकतर क्षेत्र में औद्योगिक भूखंड होगा. सड़क के किनारे वाणिज्यिक और गांव की आबादी के आसपास के क्षेत्रों में आवासीय भूखंड रहेगा.

राजनीतिक विश्लेषक महेन्द्र सिंह कहते हैं कि इस लिंक एक्सप्रेसवे से गोरखपुर क्षेत्र को विकास के नये पंख लग जायेंगे. औद्योगिक गलियारा के साथ साथ कुशीनगर क्षेत्र से पर्यटन उद्योग को भी गति मिलेगी. लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा.

Tags: Gorakhpur Link Expressway, Gorakhpur news, Purvanchal Expressway, Uttar pradesh news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर