गोरखपुर किशोरी से रेप: डेढ़ साल से चल रहा है वृद्धाश्रम, मिलता है सरकारी अनुदान

इस वृद्धाश्रम का संचालन लखनऊ निवास एलएल मौर्या करते हैं. इसे समाज कल्याण विभाग से अनुदान भी मिलता है. संचालक के मुताबिक आश्रम में 63 बुजुर्ग रहते हैं, लेकिन पुलिस ने इनकी संख्या 45 बताई है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 24, 2018, 11:55 AM IST
गोरखपुर किशोरी से रेप: डेढ़ साल से चल रहा है वृद्धाश्रम, मिलता है सरकारी अनुदान
सांकेतिक तस्वीर
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 24, 2018, 11:55 AM IST
गोरखपुर के चिलुआताल थाना क्षेत्र के मोहरीपुर स्थित हेयर डेल वृद्धाश्रम में एक नाबालिग किशोरी के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है. मामले में आश्रम के मैनेजर अनुराग पांडेय को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. यह आश्रम समाज कल्याण विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त है और पिछले डेढ़ साल से चल रहा है. अभी अगस्त में ही सिकी जांच की गई थी और सब कुछ ठीक पाया गया था.

इस वृद्धाश्रम का संचालन लखनऊ निवास एलएल मौर्या करते हैं. इसे समाज कल्याण विभाग से अनुदान भी मिलता है. संचालक के मुताबिक आश्रम में 63 बुजुर्ग रहते हैं, लेकिन पुलिस ने इनकी संख्या 45 बताई है. बुजुर्गों की संख्या में अंतर भी जांच का विषय है. आश्रम के संचालक का बाराबंकी में स्कूल भी चलता है.

बता दें बेलिपार क्षेत्र की 16 वर्षीया किशोरी के पिता की मौत एक साल पहले हो गई थी, जिसके बाद वह तीन महीने पहले मोहरीपुर में रहने वाली अपनी मौसी के यहां आ गई. मौसी की बेटी ने ही उसे वृद्धाश्रम में रसोइया का काम दिलाया था. इसके बाद से वह वृद्धाश्रम में ही रह रही थी.

पुलिस के मुताबिक, 13 अगस्त को किशोरी खाना बनाने और खाने के बाद अपने कमरे में चली गई. इसके बाद नौसढ़ निवासी वृद्धाश्रम का मैनेजर अनुराग पांडेय पहुंचा. अनुराग ने उसके कमरे में घुसकर मारपीट की और उसके साथ दुष्कर्म किया. मैनेजर ने धमकी दी थी कि अगर मुंह खोला और वृद्धाश्रम से बाहर गई तो जान से मार देगा. गुरुवार को मौसी का बेटा जब उससे मिलने गया तो किशोरी ने आपबीती बताई. इसके बाद मौसी के बेटे की मदद से वह पुलिस के पास पहुंची.

एसपी नार्थ रोहित सिंह सजवान ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. मामले की जांच की जा रही है. किशोरी का मेडिकल परिक्षण करवाकर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

उधर वृद्धाश्रम के संचालक एलएल मौर्य ने कहा कि उन्हें घटना की जानकारी नहीं है. अभी मैं लखनऊ में हूं, शुक्रवार को गोरखपुर आना है. वृद्धाश्रम को समाज कल्याण विभाग से मदद मिलती है और इसकी मान्यता भी है.

ये भी पढ़ें:

यूपी के मोस्ट वांटेड गैंगस्टर सुधाकर पांडे ने कोर्ट में किया सरेंडर, पुलिस को नहीं लगी भनक

उन्नाव रेप: CBI के मुख्य गवाह की संदिग्ध मौत, बिना सूचना दिए अंतिम संस्कार
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर