योगी के खिलाफ केस वापस लेने के विरोध में याचिका, SC ने सरकार से मांगा जवाब

आरोप लगाया गया था कि आदित्यनाथ के नफरत भरे कथित भाषण के बाद गोरखपुर में उसी दिन हिंसा की कई घटनाएं हुईं. प्राथमिकी में यह भी दावा किया गया था कि आदित्यनाथ के भाषण के बाद दंगे हुए जिसमें 10 लोगों की मौत हो गयी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2018, 10:32 PM IST
योगी के खिलाफ केस वापस लेने के विरोध में याचिका, SC ने सरकार से मांगा जवाब
योगी आदित्यनाथ के पर लगा था 2007 के गोरखपुर दंगों का आरोप (file photo)
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2018, 10:32 PM IST
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ 2007 के गोरखपुर दंगों से जुड़ा मामला वापस लेने के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने प्रदेश सरकार से सोमवार को जवाब मांगा. चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति एएम खानविलकर तथा न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने नोटिस जारी किया और राज्य सरकार से चार हफ्तों के अंदर जवाब मांगा है.

तत्कालीन सांसद योगी आदित्यनाथ और कई अन्य लोगों के खिलाफ 27 जनवरी 2007 को गोरखपुर के कोतवाली थाने में एक प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. प्राथमिकी में दो समूहों के बीच कटुता को बढ़ावा देने का आरोप लगाया गया था. आरोप लगाया गया था कि आदित्यनाथ के नफरत भरे कथित भाषण के बाद गोरखपुर में उसी दिन हिंसा की कई घटनाएं हुईं.

VIDEO: योगी के मंत्री ने की बकरीद ना मनाने की अपील

प्राथमिकी में यह भी दावा किया गया था कि आदित्यनाथ के भाषण के बाद दंगे हुए जिसमें 10 लोगों की मौत हो गयी. आदित्यनाथ को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें 11 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था. 1 फरवरी को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मजिस्ट्रेट के आदेश को रद्द करने के फैसले को बरकरार रखा था. मजिस्ट्रेट के आदेश में आदित्यनाथ के खिलाफ आरोपपत्र को संज्ञान लिया गया था.

(एजेंसी इनपुट के साथ)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर