गोरखपुर वासी भी जल्द करेंगे 'मेट्रो' की सवारी, ये है पूरी कार्य योजना
Gorakhpur News in Hindi

गोरखपुर वासी भी जल्द करेंगे 'मेट्रो' की सवारी, ये है पूरी कार्य योजना
योगी के शहर में गोरखपुर वासी भी जल्द करेंगे मेट्रो की सवारी

जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन के मुताबिक कैबिनेट में पास होने के बाद निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. गोरखपुर मेट्रो के बारे में विस्तार से बताते हुए के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन ने बताया कि 4100 करोड़ की पूरी परियोजना हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2019, 9:56 PM IST
  • Share this:
गोरखपुर (Gorakhpur) मेट्रो रेल परियोजना को लेकर योगी सरकार की कोशिशें तेज हो गई हैं. गोरखपुर में जल्द मेट्रो (Metro) चलाने को लेकर सोमवार को प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार की अध्यक्षता में एक बैठक लखनऊ में संपन्न हुई. बैठक में शामिल होने लखनऊ आए गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन ने न्यूज18 से बातचीत में बताया कि दो कॉरिडोर में मेट्रो को चलाने के लिए डीपीआर तैयार किया गया है. उसपर चर्चा हुई. इस डीपीआर को अब शासन में मंजूरी के लिए भेजा जा रहा है. जिसके बाद केंद्र सरकार को भेजा जाएगा.

4100 करोड़ की पूरी परियोजना 
जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन के मुताबिक, कैबिनेट में पास होने के बाद निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. गोरखपुर मेट्रो के बारे में विस्तार से बताते हुए के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन ने बताया कि 4100 करोड़ की पूरी परियोजना हैं. इस मेट्रो के अंदर 5 लाख यात्रियों को ले जाने की क्षमता रहेगी. इसे हम लाइट मेट्रो कहते हैं. गोरखपुर के डीएम ने बताया कि कुल दो कॉरिडोर बनाए जाएंगे. पहला कॉरिडोर 17 किलोमीटर का होगा. जिसमें गोरखनाथ मंदिर से लेकर सेवई बाजार (मदन मोहन इंजीनियरिंग कॉलेज) तक रहेगा. वहीं दूसरा कॉरिडोर गुलरिहा से लेकर नौसड़ तक रहेगा.

गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन
गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन

इन स्थानों पर होंगे मेट्रो स्टेशन


उन्होंने बताया कि गोरखपुर एयरपोर्ट से पहले एम्स तक मेट्रो जाएगी, क्योंकि सुरक्षा की दृष्टि से वायुसेना के अधिकारियों को कुछ आपत्ति है. उस पर जिला प्रशासन और वायुसेना के अधिकारियों के बीच बातचीत जारी है. डीएम बताते हैं कि पहले कॉरिडोर में गोरखनाथ मंदिर, रेलवे स्टेशन, कचहरी, यूनिवर्सिटी और बस स्टेशन जैसे प्रमुख स्थानों को केंद्रित किया गया है. गोरखपुर के जिलाधिकारी ने बताया कि इस परियोजना को पूरा करने के लिए 20 प्रतिशत फंडिग केंद्र सरकार से मिलेगी, जबकि 200 करोड़ रुपये लोकल विभाग को देना होता हैं. बाकि 3 हजार करोड़ रुपये बैंक से लोन के रूप में फंडिग की जाएगी.

 31 अगस्त को प्रमुख सचिव आवास करेंगे गोरखपुर का दौरा
पाण्डियन ने बताया कि 31 अगस्त को प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार गोरखपुर के दौरे पर आ रहे हैं. जो पहले कॉरिडोर के अंतर्गत कार्य योजना का निरीक्षण करेंगे. डीएम के मुताबिक, अगर सबकुछ ठीक रहा तो 3-4 महीने के अंदर निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. वहीं इस परियोजना को पूरा होने में 2-3 साल का समय लग सकता हैं.

सीएम योगी ने दिए थे निर्देश
इससे पहले गोरखपुर प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में कमिश्नर व डीएम को निर्देश दिए कि गोरखपुर मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए पूरी तैयारी कर डीपीआर को अंतिम रूप दे. बता दें कि केंद्रीय वित्त मंत्रालय के प्रोजेक्ट इन्वेस्टमेंट बोर्ड (पीआईबी) से कानपुर और आगरा में मेट्रो रेल परियोजना को मंजूरी मिल चुकी हैं.

ये भी पढ़ें:

27 अगस्त को रायबरेली के दौरे पर आएंगी प्रियंका गांधी, ये रहा शेड्यूल

बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की पत्नी बोलीं- आरोपी कर सकते हैं उनके परिवार की हत्या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading