कुशीनगरः फंदे से लटके मिले एक ही परिवार के तीन सदस्यों के शव

लिस के मुताबिक परिवार के तीनों सदस्य किसी जानलेवा बीमारी से संक्रमित थे और रामनाथ की पत्नी की भी मौत उसी संक्रमित बीमारी हुई थी. बीमारी के चलते ही तीन माह पूर्व बड़ी बेटी ज्योति की शादी टूट गई थी.


Updated: July 14, 2018, 10:57 PM IST

Updated: July 14, 2018, 10:57 PM IST
कुशीनगर जिले में शनिवार को एक ही परिवार को तीन सदस्यों के शव फांसी के फंदे पर मिलने की ख़बर फैलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. पता चला है एक साथ फंदे पर लटकते पाए गए तीनों शव एक पिता और उसके दो पुत्रियों के हैं.

यह भी पढ़ें-गोरखपुर रेलवे स्टेशन से 26 बच्चियां बरामद, मानव तस्करी की आशंका

रिपोर्ट के मुताबिक वारदात कुबेर स्थान थाना के गांव बढ़वलिया बुजुर्ग टोला महुआ की है. एक ही परिवार के तीन सदस्यों द्वारा फांसी लगाकर जान देने की वजहें अभी साफ नहीं हुई है, लेकिन पुलिस का मानना है कि तीनों को एक जानलेवा बीमारी थी, जिसकी वजह से इन तीनों ने खुदकुशी कर ली.

मृतक परिवार के मुखिया की शिनाख्त क्रमशः 50 वर्षीय रामनाथ सिंह, ज्योति (बड़ी बेटी) और रोली (छोटी बेटी) के रूप में हुई है. बताया जाता है गत शुक्रवार रात 8 बजे खाना खाने के बाद रामनाथ और उनकी दोनों पुत्रियां सोने चली गई और अगली सुबह देर तक परिवार को कोई सदस्य जब घर नहीं आया तो मृतक रामनाथ सिंह के बड़े भाई ने घर के अंदर दरवाज़ा खोला तो तीनों का शव फंदे से लटका हुआ मिला.

यह भी पढ़ें-महराजगंज: वीडियो में देखिए चोरी के आरोपी पर 'तालिबानी' कहर

एक ही परिवार के तीन सदस्यों की शव फंद से लटका हुआ मिलने की खबर जगंल में आग की तरह फैल गई. मामले की गंभीरता को देखते हए मौके पर पुलिस अधीक्षक अशोक यादव, अपर पुलिस अधीक्षक गौरव कुमार समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल भी पहुंच गए.

पुलिस के मुताबिक परिवार के तीनों सदस्य किसी जानलेवा बीमारी से संक्रमित थे और रामनाथ की पत्नी की भी मौत उसी संक्रमित बीमारी हुई थी. बीमारी के चलते ही तीन माह पूर्व बड़ी बेटी ज्योति की शादी टूट गई थी. बताया जाता है उक्त संक्रमित बीमारी से छोटी रोली भी परेशान थी और उसने स्कूल आना -जाना भी छोड़ दिया था.

यह भी पढ़ें-बुराड़ी केस: रजिस्टर में 'भटकती आत्मा' का जिक्र, ललित ने लिखा- नहीं देखेंगे अगली दीवाली

उल्लेखनीय है मृतक रामनाथ सिंह ने अभी मार्च में दूसरी शादी की थी. बड़ी बेटी ज्योति की शादी टूटने और छोटी बेटी के असाध्य रोग से परेशान होकर रामनाथ ने दोनों बेटियों के साथ खुद को फांसी लगाकर अपनी जान दे दी. बहरहाल पुलिस मृतकों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंजतार कर ही है, जिसके बाद ही तीनों के मौत के असली वजहों का पता लग सकेगा.

(रिपोर्ट-अशोक शुक्ल, कुशीनगर)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर