Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav 2022: जानिए कौन है CM योगी आदित्यनाथ के 4 प्रस्तावक, जिनमें एक हैं रैदास मंदिर के अध्यक्ष

UP Chunav 2022: जानिए कौन है CM योगी आदित्यनाथ के 4 प्रस्तावक, जिनमें एक हैं रैदास मंदिर के अध्यक्ष

Gorakhpur: यह पहली बार है जब योगी विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे. (File photo)

Gorakhpur: यह पहली बार है जब योगी विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे. (File photo)

CM Yogi Nomination News: अपना पर्चा दाखिल करने से पहले सीएम योगी महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज में एक बैठक को संबोधित करेंगे. दोपहर बाद वह गोरखपुर क्लब में मतदाता जागरूकता सम्मेलन एवं नेपाल लॉज में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को भी संबोधित करेंगे. शनिवार को सीएम योगी मोहद्दीपुर में सिख समुदाय के समक्ष अपनी बात रखेंगे. योगी आदित्यनाथ साल 2008 से 2017 तक गोरखपुर सीट से सांसद रहे. अभी वह विधान परिषद का सदस्य हैं. यह पहली बार है जब योगी विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे.

अधिक पढ़ें ...

गोरखपुर. विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) की सरगर्मियां तेज हो गई हैं. गोरखपुर में 3 मार्च को छठे चरण में चुनाव होने हैं. इसी कड़ी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) की मौजूदगी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) शुक्रवार सुबह 11.40 बजे नामांकन दाखिल करेंगे. आइये बताते हैं कि सीएम योगी के चार प्रस्तावक कौन है. योगी आदित्यनाथ के चार प्रस्तावकों में से एक है सुरेंद्र कुमार अग्रवाल जो आईआईटी रुड़की से केमिकल इंजीनियरिंग किए हुए हैं. दूसरे गोरखपुर के मशहूर शिक्षाविद मयंकेश्वर पांडेय, जो महात्मा गांधी इंटर कॉलेज के प्रबंधक भी है., तीसरा नाम डॉ कमलेश श्रीवास्तव का है जो पेश से गोरखपुर के नामी डॉक्टर है. चौथा नाम विश्वनाथ प्रसाद का हैं, जो रैदास मंदिर के अध्यक्ष है.

चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज गोरखपुर के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार अग्रवाल, महात्मा गांधी इंटर व पीजी कॉलेज के प्रबंधक मंकेश्वर नाथ पांडेय, रैदास मन्दिर समिति के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ मंगलेश श्रीवास्तव को सीएम योगी के तरफ से दाखिल अलग अलग सेट के नामांकन पत्र में प्रस्थापक या प्रस्तावक बनाया गया है. जबकि महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ अरुण कुमार सिंह विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इलेक्शन एजेंट होंगे.

वैश्य समाज से सुरेंद्र कुमार अग्रवाल
वैश्य समाज से आने वाले सुरेंद्र कुमार अग्रवाल चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज के कई बार अध्यक्ष रह चुके हैं. वह स्थानीय स्तर पर उद्यमियों के सर्वमान्य प्रतिनिधि माने जाते हैं. आईआईटी रुड़की से केमिकल इंजीनियरिंग की डिग्री लेने वाले अग्रवाल उद्यमी हैं और गीडा में उनकी अपनी केमिकल प्रोडक्ट की यूनिट है. वह योगी के संसदीय जीवन के प्रारंभ से ही उनके साथ जुड़े हुए हैं. गोरखपुर में औद्योगिक वातावरण के विकास को लेकर उनकी योगी आदित्यनाथ से निरंतर संवाद होता रहा है. गोरखपुर में रेडीमेड गारमेंट को ओडीओपी में शामिल कराने और गीडा में रेडीमेड गारमेंट पार्क की स्थापना को लेकर अग्रवाल के सुझावों पर मुख्यमंत्री ने निर्णायक मुहर लगाई है.

शिक्षाविद मंकेश्वर नाथ पांडेय
मंकेश्वर नाथ पांडेय उस नेशनल एजुकेशनल सोसाइटी के प्रबंधक हैं जो एमजी इंटर कॉलेज, पीजी कॉलेज समेत कई शिक्षण संस्थानों का संचालन करती है. ब्राह्मण और कायस्थ दोनों समाजों का प्रतिनिधित्व करने वाले पांडेय गोरक्षपीठ के सामाजिक अभियानों में निरन्तर सहभागी बनते रहे हैं. एक शिक्षाविद के रूप में उनकी ख्याति पूरे पूर्वी उत्तर प्रदेश में है. वह वर्ष 2007 में खुद भी शहर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके हैं और अपनी पारिवारिक और सामाजिक पृष्ठभूमि से ब्राह्मणों और कायस्थों में खासे लोकप्रिय हैं.

रैदास मंदिर समिति के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद
रैदास मंदिर समिति के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद सीएम योगी के नामांकन के लिए एक सेट प्रपत्र के प्रस्तावक हैं. अनुसूचित जाति से आने वाले प्रसाद समाजिक समरसता की उसी विचारधारा के प्रतिनिधि हैं जिसे गुरू गोरक्षनाथ, उनके उपासकों और संत रैदास ने अपने जीवन का मूल मंत्र बनाया. विश्वनाथ प्रसाद गोरक्षपीठ और उसके महंतों के छुआछुत और सामाजिक भेदभाव समाप्त करने के अभियान से न केवल प्रभावित हैं बल्कि खुद भी उससे जुड़े हुए हैं. उन्हें अनुसूचित वर्ग के लोगों में सामाजिक चेतना के लिए अभियान चलाने के लिए भी जाना जाता है.

मशहूर पैथॉलॉजिस्ट डॉ मंगलेश श्रीवास्तव
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और मशहूर पैथॉलॉजिस्ट डॉ मंगलेश श्रीवास्तव महानगर में सामाजिक सरोकारों के निर्वहन के लिए भी जाने जाते हैं. उनकी कायस्थ समाज में मजबूत पैठ तो है ही, संस्कार भारती जैसे संगठन से जुड़कर वह समाज के हर वर्ग की प्रतिभाओं को मंच देने में अपनी भूमिका निभाते रहे हैं. डॉ मंगलेश का भी गोरक्षपीठ के सामाजिक प्रकल्पों से गहरा जुड़ाव रहा है। वह चिकित्सक समुदाय के बीच भी खासे लोकप्रिय हैं.

भाजपा की परंपरागत सीट
गोरखपुर शहर सीट परंपरागत रूप से भाजपा के पास रही है. इस सीट पर राधा मोहन दास अग्रवाल विजयी होते रहे हैं लेकिन इस बार इस सीट से सीएम योगी को उम्मीदवार बनाया गया है. गोरखपुर शहरी सीट की निर्वाचन संख्या 322 है. 2017 के विस चुनाव में इस सीट पर पांच महिलाओं सहित कुल 26 नामांकन दाखिल हुए थे. इस सीट पर 51.12 प्रतिशत मतदान हुआ था. भाजपा के राधा मोहन दास अग्रवाल ने कांग्रेस के राणा राहुल सिंह को 60 हजार से ज्यादा मतों से हराया था.

Tags: Amit shah, CM Yogi, CM Yogi Aditya Nath, Gorakhnath Temple, Gorakhpur news, Samajwadi party, UP Assembly Election 2022, UP news, गोरखपुर

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर