लाइव टीवी

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का पालतू कुत्ता बना ‘इंटरनेट सेलिब्रिटी’, जानिए क्या है नाम

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 26, 2019, 8:08 PM IST
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का पालतू कुत्ता बना ‘इंटरनेट सेलिब्रिटी’, जानिए क्या है नाम
अपने कुत्ते पर प्यार से हाथ फिराते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ.

इस लैब्राडोर डॉग को दिसंबर 2016 में गोरक्ष मंदिर (Goraksh Temple) लाया गया था और उसके तीन महीने बाद योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) मार्च 2017 में यूपी (UP) के मुख्यमंत्री बने थे.

  • Share this:
गोरखपुर/लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) का पालतू कुत्ता कालू इंटरनेट की दुनिया में नया सेलिब्रिटी बन गया है. योगी की ब्लैक लैब्राडोर कुत्ते को दुलारने वाली तस्वीरों ने सोशल मीडिया पर बाढ़ ला दी है. काले लैब्राडोर कुत्ते का नाम 'कालू' है और कहा जाता है कि वह आदित्यनाथ का बहुत प्रिय है. एक सूत्र ने बताया, ‘जब भी योगी आदित्यनाथ गोरखपुर आते हैं, कालू उनसे मिलने के लिए इतना उतावला हो जाता है कि वह खुशी से उछल पड़ता है.'

योगी आदित्यनाथ को विशेष रूप से प्रिय है कालू
सोमवार को मुख्यमंत्री ने कालू के साथ फोटो खिंचवाई. इस फोटो में दिख रहा है कि योगी उसे 'पनीर' के टुकड़े खिला रहे हैं. गोरखनाथ मंदिर के कार्यालय प्रभारी द्वारिका तिवारी ने पत्रकारों को बताया कि कालू योगी आदित्यनाथ को विशेष रूप से प्रिय है. कालू से पहले योगीजी के पास राजा बाबू नाम का एक कुत्ता था, जिसकी मृत्यु हो गई थी. इसके बाद योगी बहुत दुखी हो गए थे.

एक मंदिर भक्त ने दिल्ली में भेंट किया था यह कुत्ता

तिवारी ने बताया, 'कालू को दिसंबर 2016 में गोरक्ष मंदिर लाया गया था और उसके तीन महीने बाद योगी मार्च 2017 में आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने थे. तिवारी ने कहा, 'यह काला कुत्ता योगीजी को एक मंदिर भक्त द्वारा दिल्ली में भेंट किया गया था. कुछ समय तक कालू दिल्ली में रहा और फिर उसे गोरखपुर लाया गया.'

योगी आदित्यनाथ के लिए बेहद भाग्यशाली रहा है कालू
मंदिर के अन्य भक्तों को भी लगता है कि कालू योगी आदित्यनाथ के लिए बेहद भाग्यशाली रहा है. मुख्यमंत्री बनने से पहले, वह व्यक्तिगत रूप से कालू की देखभाल करते थे और उसे खाना खिलाते थे. तिवारी ने बताया ‘कालू एक शुद्ध शाकाहारी कुत्ता है और वह दूध-रोटी खाता है या मंदिर में तैयार होने वाला भोजन करता है.'
Loading...

जब भी योगी आते हैं कालू उनसे मिलने के लिए दौड़ पड़ता है
योगी आदित्यनाथ की अनुपस्थिति में हिमालय गिरि नामक कर्मचारी कालू की देखभाल करता है. कालू के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं ताकि उसे मौसम की मार न झेलनी पड़े. मुख्यमंत्री नियमित रूप से गोरखपुर आते हैं और वो जब भी आते हैं, कालू उनसे मिलने के लिए दौड़ता है. एक भक्त ने कहा, ‘जब तक योगी आदित्यनाथ मंदिर परिसर में रहते हैं, कालू उनके साथ रहता है.’

ये भी पढे़ं - 

महाराष्ट्र में बीजेपी के कालीदास कोलंबकर ने ली प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ
'चुनाव से पहले शिवसेना ने कहा था- उसके साथ जाएंगे, जो हमें CM की पोस्ट देगा'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 7:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...