Home /News /uttar-pradesh /

up farmers got more than rs 654 crores under pradhan mantri fasal bima yojana nodark

यूपी के किसानों के लिए वरदान साबित हो रही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, 654 करोड़ का हुआ भुगतान

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ने किसानों को बड़ा फायदा हुआ है.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ने किसानों को बड़ा फायदा हुआ है.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत यूपी में वर्ष 2021-22 के खरीफ सीजन 2021 में मार्च 2022 तक 7.02 लाख किसानों को 654.85 करोड़ रुपये की फसल क्षतिपूर्ति का भुगतान किया जा चुका है. इसमें से गोरखपुर के किसानों को 13 करोड़ 59 हजार रुपये की क्षतिपूर्ति प्राप्त हुई है.

अधिक पढ़ें ...

गोरखपुर. अन्नदाता किसानों के पसीने की हरेक बूंद अनमोल है, क्‍योंकि वह पूरे देश का पेट भरता है. अगर किसी कारणवश उसके पसीने से सिंचित फसल को नुकसान हो जाए तो उसकी आर्थिक और आत्मीय पीड़ा पर भरपूर सहायता के मरहम का नाम है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना. यूपी में वर्ष 2021-22 के खरीफ सीजन 2021 में इस योजना के तहत 21.60 लाख किसानों द्वारा बीमा कराया गया था. इनमें से मार्च 2022 तक 7.02 लाख किसानों को 654.85 करोड़ रुपये की फसल क्षतिपूर्ति का भुगतान किया जा चुका है. अकेले गोरखपुर में खरीफ सीजन में 21801 किसानों को 13 करोड़ 59 हजार रुपये की क्षतिपूर्ति प्राप्त हुई है.

अन्नदाता किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में तमाम योजनाओं का क्रियान्वयन करने के साथ डबल इंजन की सरकार फसलों को हुए नुकसान की भरपाई भी करती है. खेती में किसान और उसके परिवार के परिश्रम को कीमत में तब्दील नहीं किया जा सकता. उसकी इच्‍छा खूब अन्न उपजाने की होती है, लेकिन कई बार अतिवृष्टि, आंधी, तूफान, पाला, बर्फबारी, ओलावृष्टि, आग और कीटों के प्रकोप से उसकी मेहनत और खेती की लागत बेकार हो जाती है. आपदा में नष्ट किसानों की फसल की क्षतिपूर्ति करने और किसानों को आर्थिक सम्बल प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनवरी 2016 में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana) की शुरुआत की थी. इस योजना ने किसानों को बड़ी राहत दी है.

यूपी सरकार ने लगाया पूरा दम
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र सरकार की इस योजना को यूपी के सभी जिलों में ग्राम पंचायत स्तर पर लागू किया है. पीएम फसल बीमा योजना में ऋणी कृषक अनिवार्य रूप से तथा अन्य किसान स्वैच्छिक आधार पर शामिल किए गए हैं. प्रीमियम मद में किसान की देयता को खरीफ फसल में अधिकतम दो प्रतिशत और रबी फसल में अधिकतम 1.5 प्रतिशत निर्धारित किया गया है. नकदी व औद्यानिकी फसलों हेतु प्रीमियम मद में कृषक की देयता अधिकतम पांच प्रतिशत है. किसान द्वारा वहन किये जाने वाले प्रीमियर अंश से अधिक व वास्तवित प्रीमियर दर के अंतर की समस्त धनराशि को अनुदान के रूप में केंद्र व राज्य द्वारा बराबर वहन किया जाता है.

योगी सरकार के अब तक के कार्यकाल में कुल 281.25 लाख बीमित किसानों द्वारा फसलों का बीमा कराया गया, जिसमें 27.59 लाख कृषकों को 3074.60 करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति का भुगतान किया गया है. इसमें खरीफ सीजन 2021 में 7.02 लाख किसानों को 654.85 करोड़ रुपये की फसल क्षतिपूर्ति का भुगतान भी शामिल हैं. जबकि गोरखपुर में 2021 खरीफ सीजन में 55481 किसानों ने फसल बीमा कराया जिनमें से 21801 को 13 करोड़ 59 हजार रुपये की क्षतिपूर्ति का भुगतान प्राप्त हुआ.पूरे प्रदेश में रबी 2021-22 में 19.90 लाख कृषकों द्वारा फसल बीमा कराया गया है. इनमें से 46828 गोरखपुर के हैं. रबी सीजन में किसानों द्वारा क्लेम प्रक्रियाधीन है.

Tags: Farmers, Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana, Yogi adityanath

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर