Home /News /uttar-pradesh /

Gorakhpur: कानपुर के व्यापारी की मौत मामले में थाना प्रभारी समेत तीन पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस

Gorakhpur: कानपुर के व्यापारी की मौत मामले में थाना प्रभारी समेत तीन पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस

कानपुर के व्यवसायी मनीष गुप्ता की मौत मामले में थाना  पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस दर्ज

कानपुर के व्यवसायी मनीष गुप्ता की मौत मामले में थाना पुलिसकर्मियों पर हत्या का केस दर्ज

Gorakhpur Crime News: होटल में दबिश देने के दौरान हादसे में घायल व्यापारी की संदिग्ध मौत को लेकर एसएसपी ने पहले ही लापरवाही बरतने पर रामगढ़ताल थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया था.

गोरखपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर (Gorakhpur) जिले में कानपुर (Kanpur) के व्यापारी मनीष गुप्ता (Manish Gupta) की संदिग्ध मौत मामले में पुलिस (Police) ने मुकदमा दर्ज किया है. मृतक की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता की तहरीर पर रामगढ़ ताल थाना प्रभारी समेत तीन पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज किया गया है. गौरतलब है कि होटल में दबिश देने के दौरान हादसे में घायल व्यापारी की संदिग्ध मौत को लेकर एसएसपी ने पहले ही लापरवाही बरतने पर रामगढ़ताल थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया था. जबकि मुख्यमंत्री अनुकंपा कोष से मृतक व्यापारी की पत्नी को 10 लाख की आर्थिक सहायता का चेक भी दिया गया है. वहीं मृतक व्यापारी मनोज गुप्ता का पोस्टमार्टम होने के बाद शव को उनके परिजनों को सौंप दिया गया.

बता दें कि बीते सोमवार की रात रामगढ़ताल थाना क्षेत्र स्थित होटल पर पुलिस अपराधियों की सूचना पर दबिश देने गई थी. इस दौरान होटल के कमरे में ठहरे मनीष गुप्ता और उनके दोस्तों से दबिश के दौरान पुलिस की नोकझोंक हुई थी. पुलिस का दावा है कि बेड से गिरकर मनीष गुप्ता के सिर में गंभीर चोट लग गई थी, जिसको इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज ले जाया गया था. जहां पर उनकी मौत हो गई थी. उधर  मनीष के दोस्तों और उनकी पत्नी का आरोप है कि पुलिस की पिटाई से मनीष की मौत हुई थी. इस मामले में मनीष की पत्नी की तहरीर पर फिलहाल पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर लिया है. साथ ही मृतक व्यापारी मनीष गुप्ता के शव को उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया.

ये है पूरा मामला
दरअसल, सिकरीगंज के महादेवा बाजार के रहने वाले चंदन सैनी ने बताया कि वह बिजनेस करते हैं. उनके तीन दोस्त गुरुग्राम से प्रदीप चौहान (32) और हरदीप सिंह चौहान (35) और कानपुर से मनीष गुप्ता (30) गोरखपुर घूमने आए थे. 27 सिंतबर की रात रामगढ़ताल थाना पुलिस होटल व सरायों की जांच पर निकली थी. थाने से कुछ दूरी पर स्थित कृष्णा होटल में पुलिस ने एक कमरे की तलाशी ली तो वहां मनीष अपने दो दोस्तों के साथ ठहरा हुआ था. पुलिस के पहुंचने पर मनीष के दोनों साथी उठ गए. पूछताछ के दौरान मनीष के दोनों साथियों ने बताया कि वह गुड़गांव व लखनऊ के रहने वाले हैं. उन्होंने पुलिस को बताया कि वह कोई गलत व्यक्ति नहीं हैं. उन्होंने पुलिस को अपना आधार कार्ड भी दिखाया. पुलिस के मुताबिक इस दौरान मनीष नींद में उठा और बेड से नीचे गिर गया. इससे उसके मुंह में चोट लग गई. पुलिस के अनुसार तीनों युवक नशे में थे. पुलिस मनीष को इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज लेकर गई. वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

Tags: Gorakhpur city news, Gorakhpur news, Gorakhpur Police, Up news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर