Home /News /uttar-pradesh /

शादी समारोहों में हर्ष फायरिंग करने वालों से अब ऐसे निपटेगी यूपी पुलिस

शादी समारोहों में हर्ष फायरिंग करने वालों से अब ऐसे निपटेगी यूपी पुलिस

प्रतिकात्मक तस्वीर

प्रतिकात्मक तस्वीर

गोरखपुर के एडीजी दावा शेरपा ने जोन के सभी एसपी को पत्र लिखकर थानेदार से लेकर गांव के चौकीदार तक सभी की जिम्मेदारी तय करने का निर्देश दिए है.

    शादी समारोहों में हर्ष फायरिंग की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए यूपी पुलिस ने एक नया प्लान तैयार किया है. यूपी पुलिस ने ऐसे समारोह के दौरान ताबड़तोड़ फायरिंग को रोकने के लिए चौकीदारों को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है. गोरखपुर के एडीजी दावा शेरपा ने जोन के सभी एसपी को पत्र लिखकर थानेदार से लेकर गांव के चौकीदार तक सभी की जिम्मेदारी तय करने का निर्देश दिए है.

    गौरतलब है लखीमपुर खीरी की घटना के बाद एडीजी द्वारा मामले को गंभीरत से लिया हैं. पुलिस प्रशासन दावे करती है, लेकिन तमाम पाबंदियों के बावजूद शादी समारोह में हर्ष फायरिंग के मामले थमने का नाम नहीं ले रहा है, जिससे लोगों की जान को जोखिम बना रहता है.

    न्यूज18 से बातचीत में गोरखपुर के एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि इस बाबत आज मैरिज हाल एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई है. वहीं, गांवों में चौकीदारों के साथ जल्द बैठक करेंगे. उन्होंने बताया कि एडीजी दावा शेरपा का पत्र मिल चुका है और एडीजी के निर्देश में मैरिज हाउस मालिकों के साथ बैठक करने और मैरिज हाउस तत्काल सीसीटीवी कैमरा और सुरक्षा गार्ड लगाने का आदेश दिए है.

    उन्होंने बताया कि अगर किसी भी मैरिज हाल में हर्ष फायरिंग की घटना से हादसा होता है तो मैरिज हाउस मालिकों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. शलभ माथुर कहते हैं कि गांवों में चौकीदार बिन बुलाए मेहमान की तरह समारोह में मौजूद रहेंगे और हर्ष फायरिंग की सूचना उच्चाधिकारियों को देंगे. वहीं, शहर में हल्का सिपाही इसमें अहम भूमिका निभाएंगे.

    गोरखपुर के एसएसपी शलभ माथुर की फाइल फोटो.


    एसएसपी बताते है कि हर्ष फायरिंग करना या सार्वजनिक रूप से असलहों का प्रदर्शन करना पूरी तरह से गैर कानूनी है, जिसको रोकने के लिए पुलिस कारगार कदम उठा रही है. वहीं, हर्ष फायरिंग की सूचना देने की जिम्मेदारी विवाह घर मालिक की होगी और सूचना नहीं देने पर उनके विरुद्ध भी मुकदमा दर्ज कर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

    एसएसपी के मुताबिक हर्ष फायरिंग की घटना होने पर थाने स्तर से कार्रवाई होने के बाद संबंधित सर्किल के सीओ मामले की जांच करेंगे. उनकी रिपोर्ट पर आरोपित का असलहा लाइसेंस निरस्त किया जाएगा और एक माह के भीतर मामले की रिपोर्ट एसएसपी को देनी होगी. एसएसपी की रिपोर्ट के बाद डीएम के संसतुति के बाद असलहे का लाइसेंस आजीवन के लिए निरस्त कर दिया जाएगा.

    उल्लेखनीय है शादी समारोहों के दौरान की गई फायरिंग में जानें जा चुकी हैं, लेकिन सवाल खड़ा होता है कि सुप्रीम कोर्ट के सख्त निर्देश के बाद भी हर्ष फायरिंग के दौरान हो रही मौतों का सिलसिला कम होता नहीं दिख रहा है.

    यह भी पढ़ें:

    कानपुर: दरोगा के बेटे ने खुलेआम की हर्ष फायरिंग, वीडियो वायरल

    VIDEO: मातम में बदली शादी की खुशियां, गोली लगने से दूल्हे की मौत

    शाहजहांपुर: हर्ष फायरिंग में गोली लगने से युवक की मौत, एक जख्मी

    लखनऊ: तिलक समारोह में हर्ष फायरिंग के दौरान गोली लगने से युवक की मौत

     

    Tags: Allahabad high court, Supreme Court, UP police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर