होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /CM Yogi Interview: अखिलेश से लेकर जयंत और पलायन से विकास तक, पढ़ें योगी के इंटरव्यू की 10 बड़ी बातें

CM Yogi Interview: अखिलेश से लेकर जयंत और पलायन से विकास तक, पढ़ें योगी के इंटरव्यू की 10 बड़ी बातें

Exclusive Interview CM Yogi Adityanath: यूपी विधानसभा चुनाव के लिए गोरखपुर सदर सीट से नामांकन दाखिल करने के बाद मुख्‍यम ...अधिक पढ़ें

Yogi Adityanath Interview: उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को गोरखपुर सदर सीट से विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के बाद नेटवर्क 18 के एमडी और ग्रुप एडिटर-इन-चीफ राहुल जोशी (Rahul Joshi) से खास बातचीत की. इस दौरान उन्‍होंने सूबे की सुरक्षा व्‍यवस्‍था, मुसलमानों से रिश्‍ते, यूपी चुनाव में भाजपा की उम्‍मीद, अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की जोड़ी समेत तमाम सवालों का बेबाकी से जवाब दिया.

सीएम योगी ने न्‍यूज़ 18 से कहा कि हमने पिछले पांच साल में उत्तर प्रदेश को काफी हद तक बदल दिया है. राज्‍य में कई हाईवे और एयरपोर्ट बनाने के अलावा लंबे समय से बंद पड़ी चीनी मिलों को फिर से शुरू किया है. यही नहीं, पांच साल के कार्यकाल के दौरान भाजपा सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के घर छपरौली में 40 साल पुरानी चीनी मिल की मांग को पूरा किया है. यूपी में किसान आंदोलन को लेकर योगी ने कहा कि प्रदेश में इस तरह के आंदोलन का कोई महत्व नहीं है.

गोरखपुर में News 18 के मंच पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता बढ़ी है. पिछले सात साल में देश ने भाजपा सरकार के शासन में पूर्व सरकारों की तुलना में काफी तरक्‍की की है. इस दौरान आंतरिक और बाहरी सुरक्षा मजबूत हुई है. दुनियाभर में मान सम्‍मान भी बढ़ा है.

आपके शहर से (लखनऊ)

सीएम योगी के इंटरव्‍यू की 10 बड़ी बातें 

सीएम योगी ने मुसलमानों को टिकट नहीं देने और उनसे रिश्‍ते के सवाल पर कहा कि मेरा मुसलमानों से वही रिश्ता है जो उनका मुझसे है. हमारा किसी चेहरे, जाति और मजहब से कोई विरोध नहीं है, लेकिन जिसका विरोध भारत और भारतीयता से है, बस उससे हमारा विरोध है. साथ ही कहा कि यूपी सरकार में मेरे साथ एक मुस्लिम मंत्री हैं मोहसिन रजा. इसके अलावा मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) केंद्र में काम कर रहे हैं. वहीं, केरल के राज्‍यपाल आरिफ मोहम्मद खान हैं. बीजेपी सरकार में 43.5 लाख आवास मिले हैं. यह सभी लोगों को मिले हैं, जिसमें मुसलमान भी शामिल हैं. भाजपा सरकार में सबका बराबर का सम्‍मान है.
सपा, बसपा राष्‍ट्रीय लोकदल और कांग्रेस पर तंज कसते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 लोकसभा चुनाव में भाई-बहन (राहुल गांधी-प्रियंका गांधी) की जोड़ी आयी थी. इसके बाद 2017 विधानसभा चुनाव में दो लड़कों (राहुल गांधी और अखिलेश यादव) की जोड़ी ने दम दिखाया. यही नहीं, पिछले लोकसभा चुनाव में तो महागठबंधन बन गया था, जिसमें सपा, बसपा, कांग्रेस और लोकदल शामिल थे. इसे भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ा है. महागठबंधन के बाद भी भारतीय जनता पार्टी 64 सीट पाकर नंबर एक रही थी. बसपा को दस सीटें, सपा को पांच सीटें और कांग्रेस को एक सीट मिली थी. वहीं, एकाध दल का खाता भी नहीं खुला था. इस बार भी कोई फर्क नहीं पड़ेगा.
यूपी को लेकर कहा कि प्रदेश में सुरक्षा व्‍यवस्‍था मजबूत है. जबकि निवेश, रोजगार, अन्‍नदाता की कर्ज माफी के साथ पीएम किसान सम्‍मान निधि जैसे तमाम काम किए हैं. यही नहीं, किसानों को इस वक्‍त एमएसपी से डेढ़ गुना ज्‍यादा मिल रहा है. जबकि महिलाओं को डबल इंजन की सरकार का सबसे अधिक फायदा मिला है. हर कोई यूपी में सुरक्षित है.
मुख्यमंत्री योगी ने गोरखपुर से चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा, ‘गोरखपुर या प्रदेश मेरे लिए कोई अपरिचित नहीं है. पार्टी ने मुझसे पूछा था और मैंने यह फैसला पार्टी पर ही छोड़ दिया था. पार्टी ने तय किया. मैं पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा संसदीय बोर्ड का आभारी हूं कि उन्‍होंने गोरखपुर से नामांकन भरने का मौका दिया.’
मुख्यमंत्री योगी ने यूपी चुनाव को लेकर कहा कि यह लड़ाई 80 बनाम 20 की है. 80 में भाजपा है और बाकी 20 में अन्‍य लोग हैं. प्रदेश की जनता भाजपा की कल्याणकारी योजनाओं को महसूस कर रही है. इस आधार पर मैं कह रहा हूं कि भाजपा 300 सीट का आंकड़ा पार करेगी.
योगी ने 'गर्मी शांत' करने के सवाल पर कहा कि क्या कैराना के व्यापारियों को और बेटियों को सुरक्षा पाने का अधिकार नहीं है. सरकार का काम है, यह सब करना और यही भाजपा सरकार की उपलब्धि है. इसको माताओं और बहनों ने हाथों हाथ लिया है. जो लोग पलायन, उपद्रव और दंगों के लिए जिम्मेदार थे वो सब साढ़े चार साल बिलों छिपे हुए थे, लेकिन चुनाव की घोषणा करते ही जैसे ही इनको एक दल ने उम्मीदवार बनाया तो वो लोगों को धमकाने लगे. इसका मैंने उनको जवाब दिया था. योगी ने कहा कि सपा, आरएलडी, बसपा और कांग्रेस आज भी चाहते हैं कि पहले जैसी स्थिति आ जाये. उनको विकास पसंद नहीं है. दरअसल वो चाहते हैं कि पलायन हो, दंगा हो, बलवा हो, क्‍योंकि उनको वोट पसंद है.
असदुद्दीन ओवैसी पर हुए हमले को लेकर कहा कि हम लोकतंत्र में बैलेट पर विश्वास करते हैं, बुलेट पर नहीं. इस तरह की घटनाओं को हम कतई स्‍वीकार नहीं करते हैं. हमारे वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन गोली को हम सही नहीं मानते हैं. इसके साथ अन्‍य दलों के नेताओं से अपील की कि भाषण देते समय सभी वर्ग की भावनाओं का सम्मान करें और किसी वर्ग विशेष की भावनओं के साथ खिलवाड़ कतई ना करें. हमने उनको पहले से सुरक्षा दे रखी है. वहीं, उनके कार्यक्रम की पहले से कोई सूचना नहीं थी. इस मामले में पुलिस ने सख्‍त कार्रवाई की है.
Network18 के एमडी और ग्रुप एडिटर-इन-चीफ राहुल जोशी के एक सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अमित शाह ने जयंत चौधरी के ही हित की बात कही है. जो दल डूब रहा है वह उसकी सवारी कर रहे हैं. साथ ही कहा कि जयंत तो कभी दिल्ली से बाहर निकलते नहीं हैं. गौरतलब है कि अमित शाह ने जाट नेताओं से मुलाकात के दौरान कहा था कि जयंत भाई ने गलत घर चुन लिया है. इस पर पलटवार करते हुए जयंत चौधरी ने कहा था कि मैं कोई चवन्नी नहीं, जो पलट जाऊंगा. योगी ने जयंत को लेकर कहा कि वह मुजफ्फरनगर दंगे के वक्‍त कहां थे. युवाओं पर सपा सरकार केस कर रही थी और उन्‍होंने कोई खबर सुध नहीं ली थी. आप जरा उनसे पूछ लीजिए क्‍या वह गौरव और सचिन के परिवार से मिलने गए थे.
प्रियंका गांधी के लड़की हूं, लड़ सकती हूं स्‍लोगन के सवाल पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कांग्रेस को अब उतने लोग मिल नहीं रहे. दूसरे नेता उनके बारे में क्या सोचते हैं और उन्हें कितना साथ मिलेगा, ये 10 मार्च को पता चलेगा. 2019 में कांग्रेस की सपा से सांठगांठ थी, लेकिन बहुत फायदा नहीं हुआ था.
सपा प्रमुख अखिलेश यादव के खिलाफ मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट पर कांग्रेस द्वारा प्रत्याशी नहीं उतारने पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ये सब लोग मैच फिक्सिंग करके भाजपा को हराना चाहते हैं. मैं सबको बधाई देता हूं.

Tags: Akhilesh yadav, Cm yogi adityanath news, Jayant Chaudhary, UP Election 2022

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें