Exclusive: UP में किन्नरों को मिलेगी बड़ी राहत, योगी सरकार ने उठाया ये कदम
Gorakhpur News in Hindi

Exclusive: UP में किन्नरों को मिलेगी बड़ी राहत, योगी सरकार ने उठाया ये कदम
UP में किन्नरों को मिलेगी बड़ी राहत (file photo)

किन्नरों (Transgender) के कल्याण के लिए विशेष बोर्ड गठित करने वाला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) देश का दूसरा राज्य होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 10:01 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) किन्नरों (Transgender) के लिए एक बड़ी पहल की है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यूपी सरकार बहुत जल्द ही किन्नर कल्याण बोर्ड का गठन करने वाली है. इसके लिए कवायद शुरू हो चुकी है. सरकार से जुड़े सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किन्नर कल्याण बोर्ड के गठन के लिए प्रस्ताव मंगाया हैं. यूपी सरकार ने समाज कल्याण विभाग को इसकी जिम्मेदारी सौंपी है. जो अब ट्रांसजेंडर कल्याण के लिए बोर्ड के गठन का प्रस्ताव शासन को भेजेगा. वहीं प्रस्ताव पर विचार के बाद यूपी में भी हो सकता है 'किन्नर कल्याण बोर्ड' का गठन.

दरअसल, ट्रांसजेंडर कल्याण के लिए बनने वाले इस बोर्ड का मकसद किन्नर समाज से जुड़े लोगों को शिक्षा, रोजगार, आवास और स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ मुहैया कराना है. ट्रांसजेंडर लोग आमतौर वह होते हैं जिन्हें न तो पुरुष और न ही महिला की कैटेगरी में रखा जा सकता है. किन्नरों के कल्याण के लिए विशेष बोर्ड गठित करने वाला उत्तर प्रदेश देश का दूसरा राज्य होगा.

ऐसे होता है एक किन्नर का अंतिम संस्कार



बता दें कि जब एक किन्नर की मौत हो जाती है तो उसके अंतिम संस्कार को गुप्त रखा जाता है. बाकी धर्मों से ठीक उलट किन्नरों की अंतिम यात्रा दिन की जगह रात में निकाली जाती है. किन्नरों के अंतिम संस्कार को गैर-किन्नरों से छिपाकर किया जाता है. इनकी मान्यता के अनुसार अगर किसी किन्नर के अंतिम संस्कार को आम इंसान देख ले, तो मरने वाले का जन्म फिर से किन्नर के रूप में ही होगा.
वैसे तो किन्नर हिन्दू धर्म की कई रीति-रिवाजों को मानते हैं, लेकिन इनकी डेड बॉडी को जलाया नहीं जाता. इनकी बॉडी को दफनाया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज