Assembly Banner 2021

10वीं पास 'डॉक्टर' चुटकियों में चुराता था कार, सउदी के मोबाइल नंबर से करता था गुमराह

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) व उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलग-अलग जिलों से चार पहिया वाहनों की चोरी मामले में पुलिस (Police) ने बड़ी सफलता मिलने का दावा किया है.

  • Share this:
नोएडा. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) व उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलग-अलग जिलों से चार पहिया वाहनों की चोरी मामले में पुलिस (Police) ने बड़ी सफलता मिलने का दावा किया है. वाहनों को चुराकर उनके पा‌र्ट्स खोलकर बेचने वाले गिरोह को सेक्टर-24 कोतवाली पुलिस ने दबोचा है. पुलिस का दावा है कि मामले में तीन चोरों को गिरफ्तार (Arrest) कर होंडा सिटी, मारुति ब्रेजा, वैगनआर कार बरामद की गई है. पुलिस के मुताबिक गाड़ी का सेंसर ब्रेक कर स्कैनर टैब की मदद से नई चाबी तैयार कर चोर वाहन चुरा लेते थे. चोरी के बाद आरोपी वाहनों को राजस्थान, बिहार, हरियाणा व उत्तर प्रदेश के मेरठ व हापुड़ में बेच देते थे. गिरोह का सरगना 10वीं पास वाहिद उर्फ डॉ.वाहिद मेंहदी है बताया जा रहा है. उसने 1 हजार से ज्यादा वाहनों की चोरी कर चुका है.

डीएसपी नोएडा राजेश एस ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने कार्रवाई की है. पुलिस ने सेक्टर-35 स्थित मोरना शराब ठेके के पास से तीन संदिग्धों को पकड़ा. पूछताछ में सामने आया है कि सभी चार पहिया वाहन चोर है. इनकी पहचान वाहिद उर्फ डॉ.वाहिद, गाजियाबाद निवासी अंकुर व हापुड़ निवासी शुऐब के रूप में हुई है. इनके कब्जे से दिल्ली से चोरी तीन व गाजियाबाद से चोरी एक कार, कार खोलने के औजार व 34 सिम कार्ड बरामद हुए हैं. वाहिद पिछले 15 वर्षों से चोरी करता था. उस पर दिल्ली व नोएडा में करीब 709 चोरी के मुकदमे दर्ज हैं. वहीं मामले में हापुड़ निवासी कमरूद्दीन, दिल्ली निवासी पवन, गाजियाबाद निवासी इरफान व मेरठ निवासी दानिश फरार है. पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है.

Youtube Video




करता था सउदी का वाट्सएप नंबर इस्तेमाल
एडिशनल डीसीपी नोएडा रणविजय सिंह ने बताया कि आरोपित वाहिद पूर्व में मेडिकल स्टोर पर काम करता था. बाद में चार पहिया वाहन चुराने लगा. वह कई लोगों को कार चुराने का प्रशिक्षण भी दे चुका है. इसलिए दूसरे आरोपित उसे गाड़ियों का डॉक्टर भी कहते हैं. वाहिद पर सेक्टर-24 कोतवाली से 25 हजार रुपये का इनाम घोषित है. आरोपित पकड़े जाने के डर से अपना वाट्सएप नंबर सउदी अरब में रहने वाले एक मित्र के नंबर से इंस्टाल करके चला रहा था. आरोपित ने दो शादियां कर रखी है. दिल्ली, गाजियाबाद, हापुड़, मेरठ, बुलंदशहर, बागपत में किराए का पर मकान ले रखा था. वाहिद कंपाउंडर से वाहन चोर बना था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज