ग्रेटर नोएडा: इमारत ढहने से 8 की मौत, 24 के खिलाफ केस दर्ज, NSA के तहत चलेगा मुकदमा

दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में मंगलवार रात छह मंजिला एक निर्माणाधीन इमारत भरभराकर बगल की सात मंजिला इमारत पर गिर गई.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 18, 2018, 11:08 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 18, 2018, 11:08 PM IST
दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी गांव में मंगलवार रात दो इमारतें ढह गईं. बुधवार शाम तक मलबे से 8 शव निकाले गए हैं. पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार करने के साथ 24 लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

इस मामले में डीएम बीएन सिंह ने कहा कि इन दोनों मकानों को बनाने में शामिल सभी बिल्डर, कॉन्ट्रैक्टर और घर बेचने वाले ब्रोकर के खिलाफ गिरफ्तारी के साथ-साथ उन पर एनएसए (नेशनल सिक्योरिटी एक्ट) के तहत भी कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि इन लोगों ने पब्लिक ऑर्डर को डिस्टर्ब करने की कोशिश की है.

मेरठ जोन के एसपी राम कुमार ने बताया कि बिसरख थाना क्षेत्र के शाहबेरी गांव में बीती रात एक निर्माणाधीन इमारत गिर गई. उसकी चपेट में आकर पास की एक दूसरी इमारत भी ढह गई. उन्होंने बताया कि मलबे से तीन शव निकाले गए हैं. उन्होंने बताया कि बिसरख पुलिस ने इस सिलसिले में करीब दो दर्जन लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

ग्रेटर नोएडा में गिरी 'मौत की इमारत', देखें खौफनाक तस्वीरें

कुमार ने बताया कि पुलिस ने जमीन के मालिक गंगाशंकर द्विवेदी, दिनेश और संजय को गिरफ्तार कर लिया है. अवैध इमारत बनाने के मामले में 18 अन्य लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने बताया कि अन्य आरोपियों की तलाश की रही है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

घटना की सूचना मिलने पर सुबह ही मौके पर पहुंचे कुमार ने राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया और उसे जल्दी पूरा करने का निर्देश दिया. उन्होंने बताया कि बचाव कार्य में 12 जेसीबी और दो पोकलेन मशीनें लगाई गई हैं. आसपास के जनपदों से भी दमकल विभाग की गाड़ियों तथा एनडीआरएफ बल के जवानों को बुलाया गया है. उन्होंने कहा, हमारा प्रयास मलबे में दबे लोगों को जल्द से जल्द बाहर निकालने का है.

वहीं गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी बृजेश नारायण सिंह ने मामले की मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं. सिंह ने बताया कि इस मामले की अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) कुमार विनीत सिंह के नेतृत्व में मजिस्ट्रेट जांच शुरू कर दी गई है. उन्होंने बताया कि इमारत के निर्माण में कई खामियां नजर आ रही हैं और फिलहाल 13 बिंदुओं पर जांच करने के निर्देश दिए गए हैं. (भाषा इनपुट के साथ)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर