Assembly Banner 2021

नोएडा: बदले की आग में गई 5 लोगों की जान, दो परिवारों की खूनी दास्तान

पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

गौतम बुद्ध नगर के बिसरख के अजनारा ली गार्डन सोसायटी में हुए दोहरे हत्याकांड (Double Murder) का पुलिस ने खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक बदला लेने के लिए आरोपियों ने इस घटना को अंजाम दिया

  • Share this:
नोएडा. उत्तर प्रदेश के जनपद गौतम बुद्ध नगर के बिसरख थानाक्षेत्र में हुए दोहरे हत्याकांड (Double Murder) का पुलिस ने खुलासा करने का दावा किया है. अजनारा ली गार्डन सोसायटी से जुड़े इस हत्याकांड में पुलिस (Police) ने बताया कि मृतक डालचंद्र उर्फ विराट का आरोपियों से पारिवारिक विवाद था. जिसमें 2011 में उसके भाई की हत्या कर दी गई थी. उसका बदला डालचंद्र ने आरोपियों के भाई को मारकर लिया. उसी रंजिश के चलते आरोपियों ने दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया. पुलिस ने इस सिलसिले में दो मुख्य आरोपियों सुरेश व मोहित को गिरफ़्तार (Arrest) कर लिया है. हालांकि घटना को अंजाम देने वाले दो शार्प शूटर पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं. पुलिस ने उनपर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है.

दो परिवारों का रक्तरंजित इतिहास

बता दें कि मृतक डालचन्द्र उर्फ विराट हरियाणा का निवासी था. उसके पिता गांव में लगातार कई बार सरपंच रह चुके थे. जिससे गांव के ही कुछ लोगों से उनकी दुश्मनी बढ़ी और फिर यहीं से कहानी शुरू होती है. कृष्ण नाम का युवक अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर 2011 में म्रतक डालचन्द्र के भाई राजेन्द्र और एक अन्य शख्स कपिल की गोली मार कर हत्या कर देता है. उसके बाद कृष्ण व उसके दोस्त दयानंद व टेकचंद जेल में डालचंद्र की हत्या करने का प्लान बनाते हैं. और फिर बाहर आ जाते हैं. लेकिन फिर डालचन्द्र उर्फ विराट अपने कुछ आदमियों के साथ मिलकर अपने म्रतक भाई राजेन्द्र का बदला लेने के लिए कृष्ण की कोशी कलां में हत्या कर देता है. जिसके डालचंद्र व उसके साथी जेल चले जाते हैं. 6 महीने बाद दोनों बेल पर बाहर आ जाते हैं.



बता दें कि अभियुक्त सुरेश (कृष्ण का फूफा) राजेन्द्र मर्डर केस में सजा काट रहा था और फरवरी में पैरोल पर बाहर आया था. डालचन्द्र सिर्फ 6 महीने में जेल से बाहर आ जाता है. ये बात म्रतक कृष्ण के भाई मोहित को कचौटती है कि उसके भाई ने 6 साल जेल काटी जबकि डालचंद्र सिर्फ 6 महीने में घर पर आ गया और अपना कारोबार करने लगा. साथ ही म्रतक कृष्ण के भाई मोहित ने ये कसम खाई थी वो उसकी हत्या का बदला जरूर लेगा.
गत 7 अगस्त को सोसयाटी में घुसकर गोलियों से उड़ाया 

इसी क्रम में मृतक कृष्ण के फूफा सुरेश व भाई मोहित वत्स ने म्रतक कृष्ण के दोस्त दयानंद व टेकचंद को घटना को अंजाम देने के लिए तैयार किया और डालचंद्र उर्फ विराट की हत्या की योजना बनाई. बीते 7 अगस्त की रात करीब 9 बजे टेकचंद व दयानंद उर्फ डीलर उर्फ काली स्कार्पियो से अजनारा सोसायटी में घुसे और जिस गाड़ी में डालचंद्र उर्फ विराट, अरुण त्यागी और उनके दो अन्य साथी बैठे थे, उसपर ताबड़तोड़ 11 राउंड फायरिंग की. जिसमें 7 गोली डालचंद्र को लगी, 3 गोली अरुण त्यागी को, जबकि एक गोली गाड़ी में लगी. दोनों की मौके पर ही मौत हो गई. घटना को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गए.

शार्प शूटर पुलिस की गिरफ्त से दूर 

पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर जांच में जुट गई. पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर गैलेक्सी वैगा चौराहे से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. वहीं इस घटना में शार्प शूटर दयानंद उर्फ डीलर उर्फ काली व टेकचंद फरार है, जिनपर पुलिस ने 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज