ग्रेटर नोएडा: 6 तस्‍करों से 172 किलो गांजा और 176 किलो भांग बरामद, छात्रों को सप्लाई करते थे ड्रग्स
Greater-Noida News in Hindi

ग्रेटर नोएडा: 6 तस्‍करों से 172 किलो गांजा और 176 किलो भांग बरामद, छात्रों को सप्लाई करते थे ड्रग्स
ग्रेटर नोएडा में बरामद हुआ करोड़ों का नशीला पदार्थ

डीसीपी (DCP) ने बताया कि गिरफ्तार तस्करों का जाल दिल्ली और एनसीआर के शहरों के अलावा उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, गुजरात आदि राज्यों में भी फैला हुआ है.

  • Share this:
अमित सिंह/ ग्रेटर नोएडा. एजुकेशन हब के नाम से मशहूर नोएडा (Noida) और ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में लाखों स्टूडेंट्स हर साल अपना भविष्य संवारने आते हैं. इसे देखते हुए ड्रग्स तस्करों (Drugs Supplier) ने शहर में अपने पैर पसार लिए हैं. ग्रेटर नोएडा की बीटा-2 कोतवाली पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ड्रग सप्लाई करने वाले 6 तस्करों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक आरोपी ग्रेटर नोएडा में स्टूडेंट्स को ड्रग्स सप्लाई करते थे. ये हॉस्टल और पीजी मेंं रहने वाले छात्र-छात्राओं को नशे की खेप पहुंचाते थे.

पकड़े गए लोगों के पास से 42 किलो डोडा, 172 किलो गांजा, 176 किलो भांग और 10.5 किलो चरस बरामद हुआ है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इसका मूल्य लगभग तीन करोड़ 36 लाख रुपये है. पुलिस ने इनके पास से अवैध हथियार भी बरामद किए हैं. डीसीपी (ग्रेटर नोएडा) राजेश कुमार सिंह ने बताया कि 2 सितंबर को बीटा-2 थाने की पुलिस ने सूचना के आधार पर बुलंदशहर निवासी काफिल पुत्र साबिर और नईम पुत्र अजीज खां को गिरफ्तार कर उनके पास से 3 किलो 400 ग्राम गांजा बरामद किया. पूछताछ के दौरान अभियुक्तों ने स्कूल, कॉलेज, हॉस्टल और पीजी में गांजा सप्लाई की बात स्वीकार की. यह भी बताया कि वे बुलंदशहर जिले के अनूपशहर से मादक पदार्थ लाकर यहां सप्लाई करते हैं.

ये भी पढ़ें- UP में एक IAS और 8 PCS अफसरों का तबादला, अयोध्या के नगर आयुक्त पर गिरी गाज



डीसीपी ने बतया कि पकड़े गए ड्रग्स सप्लायर की पहचान बुलंदशहर के कुचेजा गांव निवासी काफिल व नईम, हरदोई निवासी राधा किशन पांडे, बुलंदशहर के नया गांव निवासी मूलचंद उर्फ मुला, देवीपुरा निवासी शिवम शर्मा, आवास विकास कॉलोनी निवासी तरण चौधरी के तौर पर की गई है. उन्होंने बताया कि अभियुक्त तरुण चौधरी के कब्जे से एक तमंचा और 2 जिन्दा कारतूस बरामद हुआ है. अंतराष्ट्रीय बाजार में पकड़े गए मादक पदार्थों का मूल्य 3 करोड़ 36 लाख रुपये है. डीसीपी ने बताया कि गिरफ्तार तस्करों का जाल दिल्ली और एनसीआर के शहरों के अलावा उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, गुजरात आदि राज्यों में भी फैला हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज