Assembly Banner 2021

Air Pollution: गाजियाबाद में एक महीने बाद साफ हुई हवा, नोएडा में भी सुधरा AQI

हालांकि दिल्ली के पड़ोसी शहरों में प्रदूषक पीएम 2.5 और पीएम 10 हवा में मौजूद रहे. (सांकेतिक फोटो)

हालांकि दिल्ली के पड़ोसी शहरों में प्रदूषक पीएम 2.5 और पीएम 10 हवा में मौजूद रहे. (सांकेतिक फोटो)

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के समीर ऐप के अनुसार, शुक्रवार को गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 91, ग्रेटर नोएडा का 144, नोएडा का 114, गुरुग्राम का 160 और फरीदाबाद का 105 रहा.

  • Share this:
नोएडा. लगभग एक महीने के बाद, गाजियाबाद (Ghaziabad) में वायु की गुणवत्ता (AQI) ‘‘संतोषजनक’’ स्तर पर पहुंच गई. शुक्रवार को एक सरकारी एजेंसी द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, एनसीआर में हल्की बारिश (Rain) के बाद नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गुड़गांव में यह ‘‘मध्यम’’ श्रेणी में रही. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा दर्ज किए जाने वाले वायु गुणवत्ता सूचकांक(एक्यूआई) के मुताबिक, हालांकि दिल्ली के पड़ोसी शहरों में प्रदूषक पीएम 2.5 और पीएम 10 हवा में मौजूद रहे.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के समीर ऐप के अनुसार, शुक्रवार को गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 91, ग्रेटर नोएडा का 144, नोएडा का 114, गुड़ंगांव का 160 और फरीदाबाद का 105 रहा. शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है.

AQI फरीदाबाद में 278 और गुरुग्राम में 281 रहा था
बता दें कि बीते हफ्ते खबर सामने आई थी कि गाजियाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में शनिवार को वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ जबकि फरीदाबाद एवं गुरुग्राम में ‘खराब’ की श्रेणी में दर्ज की गई है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, दिल्ली के पास स्थित पांच स्थानों पर वायु में प्रदूषकों-पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर भी अधिक रहा. सीपीसीबी के समीर ऐप के अनुसार शनिवार को शाम चार बजे गाजियाबाद में 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 338, नोएडा में 302, ग्रेटर नोएडा में 308, फरीदाबाद में 278 और गुरुग्राम में 281 रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज