Home /News /uttar-pradesh /

ग्रेटर नोएडा में प्लॉट के लिए मांगे ऑनलाइन आवेदन, जानिए किस सेक्टर में हैं खाली

ग्रेटर नोएडा में प्लॉट के लिए मांगे ऑनलाइन आवेदन, जानिए किस सेक्टर में हैं खाली

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की इस स्कीम में 90 प्लॉट हैं. file photo

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की इस स्कीम में 90 प्लॉट हैं. file photo

आईजीआई, दिल्ली (IGI Delhi) से जेवर एयरपोर्ट के बीच सुपर फास्ट मेट्रो ट्रेन (Metro Train) के लिए स्पेशल कॉरिडोर बनाने की योजना पर काम चल रहा है. ग्रेटर नोएडा से जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) तक पॉड टैक्सी चलाने की योजना की डीपीआर तैयार करने को भी हरी झंडी मिल चुकी है. फिल्म सिटी (Film City) की डीपीआर को मंजूरी मिल चुकी है. यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) से सटकर लॉजिस्टिक और वेयर हाउस हब बन रहा है. एक्सप्रेसवे के पास ही बोड़ाकी रेलवे स्टेशन के पास मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब भी बन रहा है. बुलेट ट्रेन (Bullet Train) का एक स्टापेज भी इसी जगह होगा. इसी सब के चलते हर लिहाज से यहां जमीन खरीदना लोगों को अब फायदा का सौदा नजर आने लगा है. 

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. प्लॉट रेसीडेंशियल (Residential Plot) हो या कमर्शियल (Commercial Plot) या फिर इंडस्ट्रियल, खरीदने वालों की भीड़ लगी हुई है. नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी के प्लॉट हाथों-हाथ बिक रहे हैं. वो भी नगद में. हाल ही में ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) के 23 प्लॉट के लिए 380 आवेदन आए थे. अब एक बार फिर अथॉरिटी 90 प्लॉट का आवंटन करने जा रही है. यह सभी इंडस्ट्रियल प्लॉट हैं. प्लॉट के लिए ऑनलाइन आवेदन (Online Application) की प्रक्रिया शुरू हो गई है. प्लॉट के लिए शुरू हुई आपाधापी के पीछे जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) एक बड़ी वजह बताया जा रहा है. जानकारों के मुताबिक एयरपोर्ट के लिए जमीन का अधिग्रहण शुरू होने के साथ ही गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) में जमीन की खरीद-फरोख्त में तेजी आई है.

    सेक्टर-ईकोटेक में मिलेगा कारोबार करने का मौका

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो इस बार अथॉरिटी 90 प्लॉट का आवंटन करने जा रही है. सभी प्लॉट सेक्टर ईकोटेक वन एक्सटेंशन वन और ईकोटेक-6 में हैं. सभी प्लॉट 450 वर्गमीटर से लेकर 40,470 वर्गमीटर तक के हैं. प्लॉट के लिए ऑनलाइन आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. 25 नवंबर आवेदन करने की आखिरी तारीख है. दिसंबर में प्लॉट के लिए ड्रॉ आयोजित किया जाएगा.

    वहीं 4 हजार वर्गमीटर से कम साइज वाले प्लॉट का आवंटन ड्रॉ से किया जाएगा. वहीं 4 हजार वर्गमीटर से बड़े साइज वाले प्लॉट का आवंटन इंटरव्यू से होगा. सभी प्लॉट पर ग्रीन कैटेगरी (नॉन पोल्यूटिंग कैटेगरी) के सभी उद्योग लगाए जा सकेंगे. जानकारों का कहना है कि सभी प्लॉट की बिक्री से अथॉरिटी को 200 से 250 करोड़ रुपये की आमदनी होगी तो वहीं 600 से 700 करोड़ रुपये का निवेश आएगा और 2 हजार लोगों को रोजगार भी मिलेगा.

    सोमवार की दोपहर से नोएडा समेत Delhi-NCR को मिलने लगेगा गंगाजल, हुआ यह बड़ा काम 

    340 लोगों ने नगद में खरीदने की जताई थी इच्छा

    हाल ही में ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 23 प्लॉट का विज्ञापन जारी किया था. प्लॉट के लिए आवेदन मांगे गए थे. 23 प्लॉट के लिए 380 आवेदन आए थे. लेकिन मौका सिर्फ 23 लोगों को ही मिला था. लेकिन अच्छी बात यह है कि 380 में से 340 लोगों ने अपने आवेदन में नगद में प्लॉट खरीदने की इच्छा जताई थी. नगद का मतलब यह है कि प्लॉट का आवंटन होने पर यह लोग एक मुश्त रकम अथॉरिटी में जमा करते. जबकि आमतौर पर प्लॉट आवंटन के बाद अथॉरिटी 4 से 5 किश्तों में प्लॉट की रकम लेती है.

    Tags: Greater noida news, IGI airport, Jewar airport

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर