• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Cm Yogi की डिमांड: सरयू नदी के तट पर प्रभु श्री राम की लगेगी भव्य मूर्ति,जो रामराज की छवि को करेगी प्रदर्शित  

Cm Yogi की डिमांड: सरयू नदी के तट पर प्रभु श्री राम की लगेगी भव्य मूर्ति,जो रामराज की छवि को करेगी प्रदर्शित  

मूर्ति

मूर्ति बनाने वाले अनिल सुतार और राम सुतार.

भगवान श्री राम की यह वन गमन वाली छवि अभी तक हमारे नजरों में इस कदर बसी हुई है कि भगवान राम की छवि को किसी और वेश में याद करना हमारे लिए मुश्किल होता है. लेकिन इस छवि को अयोध्या के सरयू नदी के तट पर लगने वाली भगवान राम की मूर्ति तोड़ेगी.

  • Share this:

    नोएडा: श्री राम चरित मानस में तुलसीदास श्री राम के वन गमन के समय को दोहे में लिखते हैं, सजि बन साजु समाजु सबु बनिता बंधु समेत, बंदि बिप्र गुर चरन प्रभु चले करि सबहि अचेत. जिसका अर्थ है, वन का सब साज-सामान सजकर (वन के लिए आवश्यक वस्तुओं को साथ लेकर) रामचन्द्रजी सीताजी और भाई सहित, ब्राह्मण और गुरु के चरणों की वंदना करके सबको अचेत करके चले. भगवान श्री राम की यह वन गमन वाली छवि अभी तक हमारे नजरों में इस कदर बसी हुई है कि भगवान राम की छवि को किसी और वेश में याद करना हमारे लिए मुश्किल होता है. लेकिन इस छवि को अयोध्या के सरयू नदी के तट पर लगने वाली भगवान राम की मूर्ति तोड़ेगी.
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खास तौर से तैयार कराया है इस मूर्ति को
    सालों की कानूनी लड़ाई के बाद अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण होने जा रहा है. सरयू नदी के तट पर भी एक मंदिर और 251 मीटर लंबी श्री राम की मूर्ति लगने वाली है.उसे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खास तौर से तैयार करवाया है. इस मूर्ति को बनाने वाले है नोएडा के मूर्तिकार राम सुतार और उनके बेटे अनिल सुतार. अनिल सुतार बताते हैं कि यह मूर्ति राम के वनवास के जाते समय की जो छवि है उसको तोड़कर एक राजा और योद्धा के रूप में स्थापित करेगी. 251 मीटर लंबी यह मूर्ति देश की सबसे बड़ी मूर्ति होगी.
    खास टेकनिक से बनाई जाएगी 2000 करोड़ की मूर्ति 
    मूर्ति के सामने खड़े अनिल सुतार बताते हैं कि यह योगी आदित्यनाथ ने इस तरह की मूर्ति के लिए स्पेशल तौर से हमे बताया था कि वनवास वाले वेश भूषा में राम की छवि बहुत है, कुछ ऐसी मूर्ति बनाई जाए जो अलग हो तो हमने साल 2017-18 में मुख्यमंत्री को यह मॉडल दिखाया था.जिसमें श्री राम राजा के रूप में और एक योद्धा के तौर पर दिखेंगे. इस मूर्ति की लागत 2000 करोड़ होगी और एक साल में बनकर तैयार हो जाएगी. अनिल बताते हैं कि यह मूर्ति नोएडा में ही बनेगी और उसके बाद अयोध्या के सरयू नदी के तट पर स्थापित की जाएगी. इसमें तीन साल का समय लगेगा और लगभग 2000 कारीगरों को रोजगार भी मिलेगा. अनिल सुतार सामने सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति का डेमो दिखाते हुए कहते हैं कि पहले स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देश में सबसे बड़ी मूर्ति थी लेकिन अब श्री राम भगवान की मूर्ति सबसे बड़ी होगी और यह मूर्ति पूरी तरह स्वदेशी होगी.
    अभी मॉडल पास हुआ है, मंदिर बनने के बाद दूसरे चरण में बनेगी राम की भव्य प्रतिमा 
    राम सुतार जी की उम्र लगभग 70 साल होगी, उनको देश के राष्ट्रपति ने पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा है. वो बताते है कि हमने मॉडल दिखाया था, हमारे साथ 18 लोग और थे जो मूर्ति का मॉडल लाए थे लेकिन योगी आदित्यनाथ को हमारी मूर्ति का मॉडल पसंद आया. इस मूर्ति में सब कुछ बारीकी से ध्यान दिया गया है.अगर राम भगवान ने अपने माला में गेंदा का फूल पहना है तो वो गेंदा का फूल नजर आए, अगर गुलाब का फूल है तो वो गुलाब का ही फूल नजर आए. अभी हमारा मॉडल पास हो गया है. मंदिर के बाद दूसरे चरण में मूर्ति का काम भी शुरू कर दिया जाएगा.
    (रिपोर्ट – आदित्य कुमार)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज