• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • GREATER NOIDA CHILD SELLING GANG RACKET BUSTED BY GHAZIBAD POLICE 11 ACCUSED ARRESTED UPNS

मासूमों के सौदागर: गाजियाबाद में बच्चों को बेचने वाले गैंग का भंडाफोड़, 9 महिलाएं समेत 11 गिरफ्तार

गाजियाबाद में बच्चों को बेचने वाले गैंग का भंडाफोड़

इस मामले में एसपी देहात (SP Dehat) डॉ. इरज राजा ने बताया कि 11 बदमाशों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है जबकि तीन अभियुक्त अभी भी फरार हैं.

  • Share this:
गाजियाबाद. दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) की लोनी पुलिस ने बीते 12 मई को चोरी हुए नवजात बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया है. शनिवार को पुलिस ने इस पूरे गैंग के 11 बदमाशों को गिरफ्तार किया है. जिनमें 9 महिलाएं भी शामिल है. जिनके कब्जे से 5 लाख रुपये भी बरामद किए गए हैं. गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने आईपीसी और जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

बता दें कि लोनी कोतवाली क्षेत्र की डाबर तालाब कॉलोनी से 12 गायब हुए बच्चे का पता लगाने में पुलिस की कई टीमें लगी थी. इस दौरान 30 से अधिक संदिग्ध महिला और पुरुषों से हिरासत में पूछताछ भी की गई. 12 मई को बच्चे के चोरी होने का मामला प्रकाश में आया था. दंपती ने पुलिस से इसकी शिकायत की थी. पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी. जांच में दंपती द्वारा बच्चा बेचने का मामला सामने आया. इसपर पुलिस ने दंपती और उनके कई रिश्तेदारों से पूछताछ की.

बुलंदशहर: बाल सुधार गृह में 22 बच्चे मिले कोरोना संक्रमित, हाल ही में सुपरिटेंडेंट की हुई थी मौत

पूछताछ में पता चला कि दिल्ली-एनसीआर के कई जिलों में ये पूरा गिरोह सक्रिय है. बच्चा खरीदने वाले आलोक अग्निहोत्री ने बताया कि उसकी बहन को कोई औलाद नहीं थी, जिसके लिए उसने यह बच्चा 5.5 लाख रुपये में अश्मित कौर व उसके पति गुरमीत कौर जो कि दिल्ली के निवासी हैं उन से खरीदा है. जिसके बाद पुलिस अश्मित कौर और गुरमीत कौर के पास पहुंची और परत खुलने लगी. इन दोनों पति पत्नी के अलावा सरोज प्रीति ज्योति सरोज मोनी उर्फ मोनिका रुबीना तरमीन वह शाहिद को दिल्ली से गिरफ्तार किया.

यूपी समेत कई राज्यों से जुड़े है तार
उन्होंने बताया कि यह बच्चा वाहिद और तरमीम ने चोरी करके रुबीना वह मोनिका को दिया. फिर इनके द्वारा यह बच्चा सरोज प्रीति ज्योति सरोज को दिया गया. इसके बाद यह कड़ी यहीं नहीं थमी इसके बाद भी यह बच्चा इसी गैंग के अन्य सदस्य प्रभा इंदु व उसके दोस्त शिवा के द्वारा अश्मित कौर व उसके पति गुरमीत के पास पहुंचाया गया. यह पूरा एक गैंग है जो कि नवजात बच्चों को चोरी करके उन्हें बेच दिया करते थे. इस मामले में एसपी देहात डॉ. इरज राजा ने बताया कि 11 बदमाशों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है जबकि तीन अभियुक्त अभी भी फरार हैं. पुलिस ने इनके पास से बच्चे को बेचकर मिली रकम भी बरामद कर ली है.