लाइव टीवी

बैन के बावजूद, Delhi-NCR में हाउसिंग सोसाइटी ऐसे चला सकेंगी जनरेटर

News18Hindi
Updated: October 15, 2019, 8:13 PM IST
बैन के बावजूद, Delhi-NCR में हाउसिंग सोसाइटी ऐसे चला सकेंगी जनरेटर
दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के उपाय सख्ती से लागू होंगे

निगरानी के लिए एक टॉस्क फोर्स (Task Force) भी बनाई गई है. टॉस्क फोर्स के मुखिया खुद दिल्ली (Delhi) के सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind kejriwal) होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2019, 8:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जैसे ही पराली (Parali) के धुंए और सर्दियों के मौसम ने दस्तक देना शुरू किया है, वैसे ही दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) को गैस चेंबर बनने से रोकने के लिए 15 अक्टूबर (आज) से ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) लागू किया जा रहा है. प्लान के तहत दिल्ली के साथ ही अब एनसीआर के शहरों में भी डीजल जनरेटर (Diesel Generator) नहीं चल सकेंगे. लेकिन 6 लोगों को इससे छूट दी गई है. इसके साथ ही सड़कों पर मशीनों से सफाई होगी. ओपन बर्निंग कंस्ट्रक्शन साइटों पर लापरवाही के लिए नजर रखी जाएगी. ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) प्रदूषण (Pollution) फैला रहीं गाड़ियों का चालान करेगी. इंडस्ट्रियल एरिया में नाइट पेट्रोलिंग होगी.

दिल्ली के बाद अब एनसीआर में प्रतिबंध
बढ़ते वायु प्रदूषण को रोकने के लिए अभी तक सिर्फ दिल्ली में ही जनरेटर चलाने पर प्रतिबंध लगाया गया था. 2 साल से एनसीआर को इससे छूट मिली हुई थी. लेकिन इस बार NCR में भी यह नियम लागू किया गया है. मतलब नोएडा, गुरुग्राम, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गाजियाबाद में डीजल जनरेटर नहीं चलेंगे. लेकिन इस बार एन्वॉयरॉनमेंट पॉल्यूशन प्रिवेंशन एंड कंट्रोल अथॉरिटी (EPCA) इस नियम को लेकर बेहद सख्त है.

जनरेटर चलाने के लिए इन्हें मिली है छूट

NCR के शहरों की दलील है कि उनकी तैयारी नहीं है, इसलिए इस बार भी छूट दी जाए. EPCA को नोएडा और गुरुग्राम से इस बाबत पत्र भी मिला है. लेकिन, EPCA ने स्पष्ट कह दिया है कि दो साल मौका दिया गया, अब तीसरी बार छूट नहीं दी जाएगी. सिर्फ दिल्ली में जेनरेटर पर बैन लगाने से कुछ नहीं होगा. नोएडा और ग्रेटर नोएडा की सभी रिहायशी इमारतों में जेनरेटर नहीं चलेंगे. इस बारे में सभी हाउसिंग सोसाइटियों में नोटिस लगा दिए गए हैं. लेकिन कुछ ऐसी सेवाएं हैं, जिनको इससे छूट मिलेगी. ये हैं, दिल्ली-एनसीआर के सभी अस्पताल, दिल्ली मेट्रो, दिल्ली एयरपोर्ट, दिल्ली के सभी आईएसबीटी और हाउसिंग सोसाइटियों के लिए लिफ्ट, कॉमन एरिया और एलीवेटर्स.

सड़कों पर अब ऐसे होगी सफाई
इसके साथ ही सड़कों पर मशीनों से सफाई कराई जा रही है. सफाई के दौरान धूल मिट्टी को दबाने के लिए पानी का छिड़काव भी किया जा रहा है. पानी से छिड़काव के लिए दिल्ली में तमाम टैंकर लगाए गए हैं, इसके साथ ही टेस्ट टीम भी बनाई गई है ताकि टीम अपने-अपने समय पर पानी का छिड़काव कर सकें. दिवाली का मौसम है, ऐसे में पटाखे से होने वाले वायु प्रदूषण को देखते हुए सिर्फ और सिर्फ ग्रीन पटाखे की जलाए जाएंगे और इस पर भी निगरानी रखी जाएगी.
Loading...

रिपोर्ट- रचना उपाध्याय 

ये भी पढ़ें- 

कहां है मंदी? गुरुग्राम में एक कंपनी ने दिनभर में बेच दिए ₹700 करोड़ के फ्लैट!

अब ऐसे मिलेगी ट्रेन की जानकारी ‘दिल्ली ते चलवे वारी ताज एक्सप्रेस रेलगाड़ी कछु देर में आगरा आयेवे वारी है’

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुड़गांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 5:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...