Home /News /uttar-pradesh /

Greater Noida East-West और 124 गांव से जुड़ेंगे दिल्ली-गाजियाबाद, बुलंदशहर, जानिए प्लान

Greater Noida East-West और 124 गांव से जुड़ेंगे दिल्ली-गाजियाबाद, बुलंदशहर, जानिए प्लान

ग्रेटर नोएडा ईस्ट-वेस्ट को दिल्ली-गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ और 124 गांव से जोड़ने की कवायद शुरू हो गई है. demo pic

ग्रेटर नोएडा ईस्ट-वेस्ट को दिल्ली-गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ और 124 गांव से जोड़ने की कवायद शुरू हो गई है. demo pic

ग्रेटर नोएडा वेस्ट (Greater Noida west ) में जल्द ही मेट्रो ट्रेन शुरू हो जाएगी. अभी तक इस रूट पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा नहीं है. नया रूट करीब 15 किमी का होगा. पहले फेज में 5 मेट्रो रेल स्टेशन बनाए जाएंगे. यह रूट पूरी तरह से ऐलिवेटेड होगा. नोएडा (Noida) सेक्टर-51 से ग्रेटर नोएडा वेस्ट के मेट्रो रूट की शुरुआत 5 मेट्रो स्टेशन (Metro Station) से होगी. सभी 5 स्टेशन सेक्टर-122, सेक्टर-123, ग्रेटर नोएडा सेक्टर-4, ग्रेटर नोएडा सेक्टर-2 और ईकोटेक-12 ग्रेटर नोएडा वेस्ट को आपस में जोड़ेंगे. इस पूरे रूट पर 9 स्टेशन तैयार होने हैं. मेट्रो लाइन के शुरू होते ही वेस्ट के सेक्टर एक्वा लाइन और दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) की ब्‍लू लाइन से भी जुड़ जाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

    ग्रेटर नोएडा. लगातार ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) ईस्ट-वेस्ट की आबादी बढ़ रही है. जल्द ही वेस्ट में ढाई लाख फ्लैट तैयार हो जाएंगे. मौजूदा वक्त में करीब एक लाख फ्लैट में लोग अपने परिवार के साथ रह रहे हैं. बढ़ती आबादी और उसकी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने एक बड़ा कदम उठाया है. ग्रेटर नोएडा ईस्ट-वेस्ट को दिल्ली (Delhi)-गाजियाबाद (Ghaziabad), बुलंदशहर, हापुड़ और 124 गांव से जोड़ने की कवायद शुरू हो गई है. इसके लिए शुरुआत में अस्थाई बस स्टॉप बनाए जाएंगे. 124 गांवों को जोड़ने के लिए सिटी बस सेवा (Bus Service) शुरू की जाएंगी. दिल्ली समेत दूसरे शहरों से आने वाली बसें भी यहां रोकी जाएंगी.

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने बनाया है सिटी बस का प्लान

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सीईओ नरेन्द्र भूषण ने ग्रेटर नोएडा ईस्ट-वेस्ट और उसके 124 गांवों को आपस में का प्लान तैयार किया है. साथ ही इस प्लान में दिल्ली-गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ को भी शामिल किया गया है. यह वो इलाके हैं जो ग्रेटर नोएडा से सटे हुए हैं या फिर लोगों का हर रोज इन शहरों में आना-जाना रहता है.

    सीईओ के मुताबिक अभी शुरुआत में अस्थाई बस स्टॉप बनाए जाएंगे. यहां एक साथ 4 से 5 बस खड़ी हो सकेंगी. इनका रूट चार्ट इस तरह का बनाया जाएगा कि लोग ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के ऑफिस, कलेक्ट्रेट, मेट्रो स्टेशन, खास बाजार, हॉस्पिटल और बड़ी-बड़ी कंपनियों तक आसानी से कम वक्त में पहुंच जाएं.

    Yamuna Expressway: 5 साल के मुकाबले 50 फीसद कम हुए हादसे, मौतों का आंकड़ा भी घटा, जानिए वजह

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी उठाएगी सिटी बसों का खर्च

    ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सीईओ नरेन्द्र भूषण और यूपी रोडवेज के एमडी नवदीप के बीच हाल ही में एक बैठक हुई थी. बैठक में यह बात तेजी से उठी कि सिटी बस से उतनी इनकम नहीं हो पाती है जितना खर्च होता है. इस पर सीईओ ने कहा कि लागत और इनकम के बीच जो भी अंतर आएगा उसकी भरपाई ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी करेगी. वहीं उन्होंने यह भी बताया कि दिल्ली-गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ को ग्रेटर नोएडा ईस्ट-वेस्ट और 124 गांवों से जोड़ने के लिए उन शहरों से आने वाली बसों को अस्थाई बस स्टॉप तक लाया जाएगा.

    Tags: Bus Services, Delhi-ncr, Greater noida news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर