Home /News /uttar-pradesh /

Noida Business News: कोरियन कंपनियों का हब बन रहा ग्रेटर नोएडा, युवाओं को रोजगार की उम्मीद

Noida Business News: कोरियन कंपनियों का हब बन रहा ग्रेटर नोएडा, युवाओं को रोजगार की उम्मीद

मोबाइल और दूसरा इलेक्ट्रोनिक्स सामान बनाने के लिए 5 कोरियाई कंपनी आई हैं.

मोबाइल और दूसरा इलेक्ट्रोनिक्स सामान बनाने के लिए 5 कोरियाई कंपनी आई हैं.

Noida News: तीन दक्षिण कोरियाई कंपनी यहां पहले से ही थीं. अब दो और बड़ी कंपनियों को ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने इकोटेक सेक्टर में जमीन दी है.

    ग्रेटर नोएडा. वैसे तो ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) पहले से ही उद्योगों का बड़ा हब है. लेकिन बीते कुछ वक्त से दक्षिण कोरिया (South Korea) की इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स कंपनियों को ग्रेटर नोएडा ज्यादा ही पसंद आ रहा है. यही वजह है कि यह शहर अब कोरियन इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स कंपनियों का हब बनता जा रहा है. तीन कंपनी यहां पहले से ही थीं, लेकिन अब दो और बड़ी कंपनियों को ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने इकोटेक सेक्टर में जमीन दे दी है.

    जो भी विदेशी कंपनी नोएडा और ग्रेटर नोएडा में निवेश करने आती है, उसे अथॉरिटी जमीन आवंटित करती है. जमीन देने का यह काम 30 दिन में पूरा किया जाता है. इसी तरह से दो दिन पहले ही दक्षिण कोरिया की दो बड़ी इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों को ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने इकोटेक सेक्टर में जमीन आवंटित की है. ये दोनों कंपनी ड्रीमटेक और स्टेरियान हैं.

    इनके आने से ग्रेटर नोएडा में कोरियन कंपनियों की संख्या 5 हो गई है. सभी 5 कंपनियों को कुल मिलाकर 3.5 लाख वर्ग मीटर जमीन आवंटित की गई है. कहा गया है कि इन कंपनियों के आने से 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा.

    ड्रीमेटक इलेक्ट्रॉनिक्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को सेक्टर इकोटेक-10 में 20 एकड़ जमीन आवंटित की गई है. यह कंपनी मोबाइल फोन एक्सेसरीज तैयार करेगी. स्टेरियान इंडिया को भी 20 एकड़ जमीन दी गई है. यह कंपनी वॉशिंग मशीन, एयर प्यूरीफायर आदि बनाएगी. अलायड निप्पोन को 10 एकड़ जमीन सेक्टर-10 में आवंटित की गई है. सुपर प्लास्ट्रॉनिक्स को भी 10 एकड़ जमीन आवंटित की गई है.

    बिल्डर्स की जमीन बेचकर कराई जाएगी ग्रेटर नोएडा में फ्लैट खरीदारों के घरों की रजिस्ट्री!

    टेक्सटाइल पार्क में आ रही हैं 152 कंपनियां
    उत्तर भारत को टेक्सटाइल हब बनाने का काम भी चल रहा है. इसी कड़ी में यमुना अथॉरिटी ने नोएडा में अपैरल एक्सपोर्ट क्लस्टर (टेक्सटाइल पार्क) की स्थापना के लिए 150 एकड़ जमीन का आवंटन कर दिया है. इस तरह से नोएडा में यूपी का पहला टेक्सटाइल पार्क बनने जा रहा है. टेक्सटाइल पार्क में कुल 152 कंपनियां अपनी फैक्टरी लगाएंगी.

    दावा किया गया है कि कंपनियों के आने से नोएडा में 8365 करोड़ रुपए का इनवेस्टमेंट होगा और ये कंपनियां 5 लाख लोगों को रोजगार देंगी. कहा यह भी गया है कि सन् 2022 के पहले महीने में टेक्सटाइल और गारमेंट की 91 फैक्टरिओं के निर्माण का काम शुरू हो जाएगा.

    Tags: Greater noida news, Mobile Phone, Noida Authority

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर